odisha
Pic: ANI

    नई दिल्ली. उड़ीसा (Odisha) से आ रही एक बड़ी खबर के अनुसार यहां एक भयंकर सड़क हादसे (Accident) में पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कम से कम 6 लोगों की मौत हो गई। बीते मंगलवार देर रात गंजम-कंधमाल सीमा के पास उड़ीसा के कलिंग घाटी में एक पर्यटक बस के पलट जाने से बंगाल की 4 महिलाओं सहित कम से कम 6 लोगों की मौत हो हो चुकी है और 31 अन्य घायल हो गए। 

    इस बाबत पुलिस ने बताया कि, बंगाल के हावड़ा में उदयनारायणपुर इलाके के 76 यात्रियों को लेकर पर्यटक बस मंगलवार दोपहर कंधमाल के दरिंगीबाड़ी इलाके से चली थी और आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम की ओर जा रही थी। 

    इस बाबत पुलिस ने बताया कि, “रात करीब 11। 30 बजे, बस के चालक ने पहाड़ी सड़क के एक मोड़ पर अपने ब्रेक पर से कंट्रोल खो दिया और बस पलट गई, जिसके बाद 6 लोगों की कुचलकर मौत हो गई। कम से कम 15 गंभीर रूप से घायल हो गए, जबकि 16 अन्य को मामूली चोटें आई हैं।” 

    ख़बरों के अनुसार सभी 6 मृतकों में से पांच की पहचान कर ली गई है। वे सुप्रिया डेनरे, संजीत पात्रा, रीमा डेनरे, मौसमी डेनरा और बरनाली मन्ना हैं। लेकिन इसमें एक की पहचान नहीं हो पाई है। हादसे की खबर मिलने के तुरंत बाद दमकल कर्मी मौके पर पहुंचे और यात्रियों को पलटी बस से जैसे तैसे बाहर निकाला। बाद में स्थानीय युवकों और पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाने में भी मदद की। 

    दरअसल 40 पुरुषों, 30 महिलाओं और कुछ बच्चों सहित लगभग 77 यात्रियों को लेकर बस फूलबनी (उड़ीसा) से विशाखापत्तनम लौट रही थी, तभी कलिंग घाट (उड़ीसा) के पास वाहन ने ब्रेक पर नियंत्रण खो दिया। जानकारी के मुताबिक चालक घाट में कठिन मोड़ों के बीच बस को चलाने में विफल रहा और यह खाई में पलटने से पहले बस बिजली के खंभे से जा टकराई। डॉक्टरों ने बताया कि गंभीर रूप से घायलों की हालत फिलहाल स्थिर है।

    गौरतलब है कि समुद्र तल से करीब 2500 फीट की ऊंचाई पर स्थित कलिंग घाट अपनी टेढ़ी-मेढ़ी सड़कों के लिए प्रसिद्ध है। साथ ही इसके मनमोहक प्राकृतिक सौंदर्य के लिए भी यह बहुत तेज चलने वाली घाट सड़क है। इतना ही नहीं यह घाट सबसे लंबी सड़कों में से एक है। हालाँकि इससे पहले भी बीते दिसंबर में कलिंग घाटी इलाके में वाहन के पलटने से पश्चिम बंगाल के कम से कम 50 पर्यटक घायल हो चुके थे।