असदुद्दीन ओवैसी (Photo Credits-ANI Twitter)
असदुद्दीन ओवैसी (Photo Credits-ANI Twitter)

    नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा (UP Assembly Election 2022) के चुनाव होने हैं। उससे पहले ही सूबे का सियासी संग्राम खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। इसी बीच कानपुर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi in Kanpur) ने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने के बयान में कहा कि भारत में मुसलमानों का कोई नेता नहीं है और उनकी स्थिति शादी में बैंड बजाने वालों जैसी है। 

    बता दें कि उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि देश में पहले शादियों में मुसलमानों से बैंड-बाजा बजवाया जाता था लेकिन उन्हें शादी में अंदर जाने से रोक दिया जाता है। सियासत में भी मुसलमानों की स्थिति ऐसी ही है। ओवैसी ने कहा कि राजनीति में सिर्फ ताकत की आवाज को सुना जाता है। 

    ओवैसी ने कहा कि जिनके पास सांसद या विधायक जैसे नुमाइंदे हैं, सिर्फ उन्हें ही लोग सुनते हैं। अन्य लोगों को छोड़ दिया जाता है। ये सारी बातें उन्होंने कानपुर के जाजमऊ के अकील कंपाउंड में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कही है। उन्होने कहा कि अब मुस्लिम बैंड बाजा नहीं बजाएंगे। यहां तक की जाति का एक नेता है लेकिन मुसलमानों का नहीं है। 

    वहीं ओवैसी यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में मुस्लिम आबादी 19 फीसदी है। लेकिन उनका नेता कोई भी नहीं है। इमोशनल कार्ड खेलते हुए ओवैसी ने कहा कि मेरी तमन्ना है कि मरने से पहले सूबे में 100 मुस्लिम नेता हो।