बिजली बिल कम करने को लेकर विद्युत कार्यालय पर आन्दोलन

BJP विधायक गणेश नाईक ने की बिल कम करने की मांग 

नवी मुंबई. लॉकडाउन और कोरोना महामारी के बीच बेतहासा भेजे गए बिजली बिल ने नागरिकों का गुस्सा बढ़ा दिया है. विद्युत वितरण कंपनी की इस मनमानी के खिलाफ मंगलवार को भाजपा विधायक गणेश नाईक ने वाशी के विद्युत वितरण कार्यालय पर मोर्चा निकाला. कार्यकर्ताओं ने यहां विद्युत विभाग की मनमानी के खिलाफ मुर्दाबाद का नारा लगाया और विरोध प्रदर्शन किया.

इस दौरान जिलाध्यक्ष रामचंद्र घरत, महापौर जयवंत सुतार, दशरथ भगत समेत कई भाजपा नेता भी मौजूद थे. विधायक गणेश नाईक ने विद्युत अभियंता को ज्ञापन देने के बाद कहा कि लोग लॉकडाउन से आर्थिक संकट में हैं जबकि बिजली विभाग उन्हें हजारों का बिल भेजकर और मुसीबत बढ़ाने पर तुला हुआ है. गणेश नाईक ने चेतावनी दी कि यदि बिजली विभाग ने उपभोक्ताओं का बिल नहीं घटाया तो भाजपा सड़क पर उतर कर और तीव्र आंदोलन करेगी.इस दौरान भाजपा नेता दशऱथ भगत, जिलाध्यक्ष रामचंद्र घरत, पूर्व महापौर सुधाकर सोनावणे, जयवंत सुतार, सागर नाईक एवं पूर्व सांसद संजीव नाईक समेत तमाम पदाधिकारी मौजूद थे. 

अधिकारी को ज्ञापन, बिल घटाने की मांग

बता दें कि बिजली विभाग ने उपभोक्ताओं को 5 से 50 हजार तक का बिजली बिल भेजा है. जिनके बिल अधिकतम 500 रुपए से 1000 रुपए तक आते थे उन्हें भी 10 गुना ज्यादा बिल भेजे गए हैं. वितरण कंपनी  बिल को सही बताकर रियायत देने को तैयार नहीं है. इसलिए नागरिक इसे तानाशाही मान रहे हैं. विद्युत विभाग ने राहत नहीं दी तो यह विरोध हर इलाके में देखने को मिल सकता है.