ठाणे में बना राज्य का पहला ‘पोस्ट कोविड सेंटर’

  • पालकमंत्री एकनाथ शिंदे द्वारा किया जाएगा उद्घाटन

ठाणे. कोरोना वायरस से ठीक होकर अपने घर वापस लौटने वाले लोगों को भविष्य में होने वाली अन्य बीमारियों से बचाने के लिए ठाणे जिले में पहला पोस्ट कोविड सेंटर (Post Covid Center) बनाया गया. इस पोस्ट कोविड सेंटर की मदद से भविष्य में ऐसे लोगों को होनेवाली समस्याओं से छुटकारा मिलना तय है. आगामी कुछ दिनों में ठाणे जिला पालकमंत्री एकनाथ शिंदे द्वारा राज्य के गृह निर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड की उपस्थिति में महापौर नरेश म्हस्के की अध्यक्षता में उद्धघाटन किया जाएगा.

महाराष्ट्र राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अवधारण पर यह कोविड सेंटर बनाया गया है. ठाणे जिला पालकमंत्री एकनाथ शिंदे के मार्गदर्शन में और महापौर नरेश गणपत म्हस्के और सभी जनप्रतिनिधियों के सहयोग से मनपा आयुक्त डॉ. विपिन शर्मा के नेतृत्व में पोस्ट कोविड सेंटर (Post Covid Center) का निर्माण किया गया है. मनपा अधिकारियों की मानें तो ठाणे मनपा ने कोरोना मुक्त रोगियों के लिए राज्य में पहला पोस्ट कोविड सेंटर स्थापित किया है. माजिवाड़ा के लोढ़ा लक्जोरिया कॉम्प्लेक्स में मनपा द्वारा संचालित ईमारत की पहली मंजिल पर अत्याधुनिक पोस्ट कोविड सेंटर बनाया गया है.  पोस्ट कोविड सेंटर में चिकित्सा अधिकारी, मनोचिकित्सक, आहार विशेषज्ञ, योग विशेषज्ञ, परामर्शदाता, फिजियोथेरेपिस्ट के साथ-साथ कोरोना मुक्त रोगियों के मनोबल को बढ़ाने के साथ-साथ कोरोना रोग से छुटकारा पाने के लिए योग केंद्र, टॉयलेट और परामर्श सुविधाएं तैनात की गई हैं 

मनोचिकित्सक से उचित मार्गदर्शन

कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों को भविष्य में थकान, बेचैनी, समझ में ना आना और जल्दी याद ना होने जैसी अनेक समस्याओं सामना करना पड़ सकता है. वहीं वायरस के कारण शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित होता है इसलिए मरीजों का उचित मार्गदर्शन करने के लिए पोस्ट कोविड सेंटर में मनोचिकित्सक भी तैनात किया गया है. मनोचिकित्सक के उचित मार्गदर्शन के साथ मरीज मानसिक रूप से सशक्त बन सकेंगे.

चिकित्सा कक्ष

कोरोना से ठीक होने के बाद सांस लेने में तकलीफ और थकान, सांस लेने में कठिनाई, सीने में जकड़न, लगातार खांसी, कफ, मुंह में खराब स्वाद, अपच, सिरदर्द, बेचैनी, अनिद्रा और कोरोना वापस होने का डर शामिल है. ऐसे मरीजों के लिए एक मेडिकल वार्ड स्थापित किया गया है और इन सभी का इलाज चिकित्सा अधिकारियों द्वारा किया जाएगा.

आहार विशेषज्ञ

कोरोना से ठीक होने के बाद मरीजों के दैनिक आहार में एक बड़ा बदलाव आ जाता है. इससे बचने के लिए तथा शरीर में ऊर्जा बढ़ाने के लिए संतुलित और पौष्टिक आहार कैसे खाएं? इस पर मार्गदर्शन करने के लिए एक आहार विशेषज्ञ को भी केंद्र में नियुक्त किया गया है.

योग केंद्र

कोरोना की वजह से मरीजों के शारीरिक स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है. पोस्ट कोविड सेंटर में कोरोना से ठीक होनेवाले मरीजों के लिए योग केंद्र स्थापित किया गया है जो कि मरीजों को उचित व्यायाम, साँस लेने के व्यायाम, मध्यम व्यायाम आदि द्वारा उचित शारीरिक स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए कौन से अभ्यास किए जाने चाहिए इस पर मार्गदर्शन करेगा.

फिजियोथेरेपी कक्ष

कोरोना के बाद रोगी के अंग और मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं उन्हें मजबूत बनाने के लिए किन अभ्यासों की आवश्यकता है इसका मार्गदर्शन करने के लिए केंद्र में एक फिजियोथेरेपिस्ट नियुक्त किया गया है.

विशेष बस सेवा

ठाणे स्टेशन से पोस्ट कोविद केंद्र तक और आने के जाने के लिए लिए एक विशेष बस की व्यवस्था की गई है. इस केंद्र के लिए हर घंटे सुबह 6.30 बजे से 12 बजे के बीच बस सेवा उपलब्ध कराई जाती है.