प्रकल्पग्रस्त सफाई ठेकेदारों को न्याय दिलाएंगे

  • आयुक्त से मुलाकात के बाद मंदा म्हात्रे का वादा

नवी मुंबई. सेटेलाईट सिटी नवी मुंबई को स्वच्छता पुरस्कार दिलाने वाले सफाई ठेकेदारों के साथ अन्याय हो रहा है. महानगर पालिका बाहरी ठेकेदारों को काम देकर स्थानीय प्रकल्पग्रस्त ठेकेदारों के साथ अन्याय कर रही है जिससे उनकी रोजी रोटी प्रभावित हो रही है. ऐसी मनमानी नहीं चलेगी. भाजपा विधायक मंदा म्हात्रे ने बुधवार को मनपा आयुक्त से मुलाकात के दौरान ऐसी खुली चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो प्रकल्पग्रस्त ठेकेदारों को न्याय दिलाने आंदोलन से भी पीछे नहीं हटूंगी. उन्होंने कहा कि इन्हीं सफाई ठेकेदारों और कर्मियों के कारण नवी मुंबई मनपा का देश में स्वच्छता का उत्तम पुरस्कार प्राप्त हुआ लेकिन आज उन्हें रोजी रोटी से बेदखल किया जा रहा है. बता दें कि 3 दिनों पहले मनपा आयुक्त से ऐरोली के भाजपा विधायक गणेश नाईक ने भी ऐसा ही भरोसा दिलाया था.

चर्चा में उद्यान घोटाला और ईटीसी का मुद्दा

आयुक्त अभिजीत बांगर के साथ मुलाकात में विधायक मंदा म्हात्रे ने 8 करोड़ का उद्यान घोटाला, वाशी के ईटीसी केन्द्र, महात्मा बुद्ध की प्रतिमा लगाए जाने पर भी चर्चा की और त्वरित जांच कराने की मांग करते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. बेलापुर की बीजेपी विधायक ने कहा कि नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के मद्देनजर नवी मुंबई में पर्यटन को लेकर तमाम संभावनाएं हैं. मरीना प्रोजेक्ट, बटरफ्लाई गार्डन, राक गार्डन समेत अन्य उपक्रमों के जरिए पर्यटन को प्रोत्साहन दिया जा सकता है जिसे लेकर मनपा आयुक्त से सकारात्मक चर्चा हुई. इस दौरान कई पदाधिकारी भी मौजूद थे.