11 cases of 'love jihad' in Kanpur, SIT set up for investigation

कानपुर: कानपुर पुलिस ने ‘लव जिहाद’ मामलों की जांच के लिए आठ सदस्यीय विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया है। सूचना के अनुसार, पिछले एक महीने में उत्तर प्रदेश के कानपुर में विवाह के बहाने जबरन धर्म परिवर्तन के लगभग 11 मामले सामने आए। ऐसे मामलों के मद्देनजर, हिंदू संगठनों ने आईजी कानपुर मोहित अग्रवाल से मुलाकात की और मामले की जांच की मांग की। कानपुर, (दक्षिण) के पुलिस अधीक्षक दीपक भुकर की अगुवाई में SIT को यह पता लगाने के लिए कहा गया है कि कथित घटनाओं के पीछे कोई तय पैटर्न या तौर-तरीके का काम तो नहीं है। SIT को कानपुर में ‘लव जिहाद’ रैकेट के वित्तपोषण(financing) में इस्लामी संगठनों की कथित भूमिका की जांच करने का भी काम सौंपा गया है।

एक अधिकारी ने बताया, “इस बात की प्रबल संभावना है कि कुछ इस्लामिक संगठन इस तरह के राष्ट्र विरोधी कृत्यों में शामिल होकर मुट्ठी भर संगठनों को वित्तीय सहायता प्रदान कर रहे हों।” यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि अधिकांश कथित ‘लव जिहाद’ के मामले जूही क्षेत्र से सामने आए हैं। कानपुर पुलिस यह पता लगाने के लिए इस एंगल पर जांच कर रही है कि क्या इसमें शामिल युवकों को विदेश से वित्तपोषित (finance) किया जा रहा है। इस बीच, एसपी दीपक भुकर ने कहा कि उन्होंने निगरानी के उद्देश्य से एक विशेष स्वाट (SWAT) टीम की सहायता मांगी है।

उन्होंने कहा कि SIT ने स्थानीय पुलिस स्टेशनों को पिछले दो वर्षों में रिपोर्ट किए गए सभी कथित ‘लव जिहाद’ मामलों का विवरण साझा करने के लिए कहा है। भुकर ने आगे कहा कि टीम लिंक को सत्यापित करने के लिए एक दर्जन फोन नंबरों से संबंधित रिकॉर्ड पर काम कर रही है। टीम ऐसे जोड़ों और उनके बैंक खातों के बारे में और उनके परिवार के सदस्यों के बयान भी ले रही है। साथ ही उनके सहयोगियों के फोन नंबर भी निकाल रही है।

जुलाई में, कानपुर की एक महिला, शालिनी यादव ने एक मुस्लिम व्यक्ति, फैसल से शादी की। लड़की के परिवार के अनुसार, यह ‘लव जिहाद’ का मामला था। हालांकि, दंपति ने दिल्ली की एक अदालत से संपर्क किया और जबरन धर्म परिवर्तन के आरोपों से इनकार किया। लड़की ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी पोस्ट किया, जिसमें दावा किया गया कि उसने शादी कर ली है और अपनी पसंद के अनुसार खुद को बदल लिया है।

मामले के बारे में बोलते हुए, भुकर ने कहा कि दंपति ने दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया और तीस हजारी अदालत में एक मजिस्ट्रेट के सामने भी आरोपों को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि चूंकि शालिनी यादव वयस्क है, इसलिए पुलिस इसके बारे में कुछ नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि जल्द ही अदालत में क्लोजर रिपोर्ट भेजी जाएगी। इस बीच, पुलिस ऐसे उदाहरणों को खोजने की कोशिश कर रही है जब युवाओं ने महिलाओं से शादी करने के लिए अपनी असली पहचान छिपा ली।

इस बीच, कानपुर पुलिस ने दो लोगों मोहसिन खान और आमिर को एक कथित ‘लव जिहाद’ मामले में पकड़ा है। एक अधिकारी ने कहा कि मोहसिन खान ने समीर बनकर कथित रूप से एक लड़की से दोस्ती की और फिर उससे शादी कर ली।