File Photo
File Photo

    लखनऊ. योगी सरकार ट्रिपल टी फार्मूला (Triple T Formula) प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) की रफ्तार रोकने में कारगर साबित हो रहा है। यूपी (UP) में लगातार कोरोना संक्रमण के मामले कम होते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश में कोरोना के 1,497 मामले ही सामने आए हैं, जबकि अस्‍पताल से कोरोना की जंग जीत कर घर जाने वाले लोगों की संख्‍या 5491 रही। योगी सरकार की स्‍वस्‍थ्‍य नीतियों के चलते प्रदेश में रिकवरी रेट (Recovery Rate) 96.6 प्रतिशत हो गया है। 

    कोरोना संक्रमण से रोकथाम में योगी सरकार की नीतियां असरदार साबित हो रही है। यूपी में तेजी से कोरोना के मामले कम होते जा रहे हैं। प्रदेश में कोरोना के 37044 एक्टिव है। इनमें भी 20762 लोग होम आइसोलेशन में हैं। कोरोना से रिकवरी का रेट भी काफी तेजी से बढ़ रहा है। प्रदेश में रिकवरी रेट 96.6 प्रतिशत पहुंच गया है।  वहीं, सरकार ने कोरोना की रोकथाम के लिए टेस्‍ट बढ़ा दिए हैं। प्रदेश में 24 घंटों के अंदर 3,12,677 सैंपल की जांच की गई। इसमें 1,17,764 आरटीपीसीआर टेस्‍ट किए गए हैं।  

    पाजिटिविटी रेट में भी कम हो रहा 

    यूपी में कोरोना पाजिटिविटी रेट में भी कम हो रहा है। प्रदेश में शुरू में कोरोना पाजिटिविटी रेट 3.4 प्रतिशत था, जो अब कम होकर 0.5 प्रतिशत ही रह गया है। कोरोना रोकने के लिए यूपी में वैक्‍सीनेशन कार्य भी तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में अब तक 1 करोड़ 80 लाख 8 हजार 604 डोज़  वैक्सीन दी जा चुकी है। प्रदेश के सभी 75 जिलों में 18 से 45 वर्ष के लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। वैक्‍सीनेशन लेकर युवाओं में काफी उत्‍साह है। यही वजह है कि वैक्‍सीनेशन को लेकर ज्‍यादतर स्लाट्स बुक हो गए हैं। कोरोना को मात देने में  कोवैक्सीन और कोविडशील्ड दोनों असरदार है।

    टीकाकरण केन्‍द्र पर अभिभावक बूथ बनाए गए

    टीकाकरण अभियान में 12 साल से कम उम्र के बच्‍चों के अभिभावकों को विशेष छूट दी जा रही है। टीकाकरण केन्‍द्र पर अभिभावक बूथ बनाए गए हैं। हालांकि अभिभावकों को सुविधा का लाभ लेने के लिए बच्‍चे का जन्‍म प्रमाण पत्र या आधार कार्ड लेकर जाना होगा।