Yogi

लखनऊ: महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा को लेकर गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditynath) ने बड़ा निर्णय लिया है. जिसके तहत अब नागरिकता कानून (Citizen Bill) के विरोध में दंगा करने वालों आरोपियों के लगे पोस्टर के तर्ज पर अब उत्तर प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों के साथ यौन शोषण करने वालों के लगेंगे पोस्टर. 

सरकार द्वारा जारी किए आदेश के अनुसार, प्रदेश के अंदर महिलाओं और बच्चियों के साथ छेड़ खानी, दुर्व्यवहार या यौन अपराध करने वाले सभी आरोपियों उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सभी शहरों के चौराहों पर लगाया जाएगा. इसी के साथ यह सब अपराध करने वाले सभी आरोपियों को महिला पुलिस कर्मियों के हांथो सजा दिलवाई जाएगी.

लोगों के सामने नाम लाना मुख्य मकसद 
सरकार ने अपने लिए इस निर्णय पर कहा कि, “समाज को महिलाओं और बच्चियों के साथ अपराध करने और यौन शोषण करने वाले लोगों की जानकरी होनी चाहिए. सरकार का मुख्य मकसद ऐसे दुराचारियों को लोगों के सामने लाना है.”

एंटी रोमियो स्क्वायड ने ने किया बेहतरीन काम 
राज्य में महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाएं गए एंटी रोमियों स्क्वायड की तारीफ करते हुए कहा, “प्रदेश भर में एंटी रोमियों स्क्वायड ने बेहतरीन काम किया है. महिलाओं पर अपराध करने वालों को इसने कमर तोड़ दी है. उसी के तर्ज पर अब पूरा पुलिस फाॅर्स काम करेगी.”