आज का भविष्य,  गुरूवार, 8 अप्रैल 2021

आज का भविष्य– गुरूवार 08 अप्रैल 2021
आज जन्म लिये बालक का फल–
आज जन्म लिया बालक हंसमुख, मिलनसार, चंचल तथा व्यवहार कुशल और परिश्रमी होगा। जन्म स्थान से दूर रहकर अपना भाग्योदय करेगा। माता का भक्त होगा। यात्रा अधिक करेगा। तेजस्वी और निड़र होगा।
मेष– बुजुर्गों के स्वास्थ्य की चिन्ता रहेगी। कारोबार में उतार चढ़ाव से लाभ कम होगा। आकस्मिक खर्च होगा। परिणाम विलंब से मिलेंगे। शुभ संदेश मिलेगा।
वृषभ– धार्मिक कार्यों में शामिल होकर अच्छा महसूस करेंगे। समय पर सोचे हुये कार्यों के बनने का योग है। मानसिक संतोष और यश में वृद्धि होगी। पूज्य व्यक्ति की सलाह लाभप्रद रहेगी।
मिथुन– मेहनत के बावजूद कारोबारी कार्यों में परेशानी हो सकती है। विशेष श्रम तथा प्रयास से कार्यों में सामान्य सफलता के योग हैं। प्रतिष्ठा बनी रहेगी। अनावश्यक विवादों को टालना हितकर रहेगा।
कर्क– नए संपर्क आगे बढ़ने में मदद करेंगे। नवीन योजनाओं का शुभारंभ होगा। शीघ्रता में किये गये कार्यों में सावधानी रखें। नुकसान हो सकता है।
सिंह– साझेदारी लाभदायी रहेगी। अचानक बड़ी सफलता से खुशी होगी। नौकरी संबंधी प्रयासों में सफलता मिलेगी। राजकीय सहयोग से रूके कार्य बनने का योग है।
कन्या– अविवाहित वैवाहिक चर्चाओं में सफलता को लेकर उत्साही रहेगें। धार्मिक सत्संग से मानसिक प्रसन्नता होगी। प्रवास का योग है। निजी पुरूषार्थ बना रहेगा।
तुला– पारिवारिक और निजी संबंधों में मधुरता बढे़गी। समाज में मान सम्मान और बर्चस्व बढे़गा। शारीरिक शिथिलता दूर होगी। जीवनसाथी का कार्य में अच्छा सहयोग रहेगा।
वृश्चिक– लोग आपसे प्रभावित होगें। बाहर जाने का कार्यक्रम बनेगा। व्यवसायिक कामकाज की अधिकता रहेगी। मनोरंजन के साधनों में वृद्धि होगी।
धनु– व्यापारिक विस्तार से अच्छी आय की सम्भावना बनेगी। आर्थिक लेनदेन में सावधानी रखें। मांगलिक कार्य बनने का योग है। शत्रु वर्ग प्रभावी रहेगा।
मकर– अधिकारियों के सहयोग से महत्वपूर्ण योजनायें पूरी हो सकती हैं। संतान के कारण भावनात्मक कष्ट होगा। धार्मिक कार्यों में खर्च होगा।आकस्मिक यात्रा का योग है।
कुम्भ– मित्र मण्डली के सहयोग से अटकी योजना शुरू कर सकते हैं। भौतिक सुख सुविधाओं में वृद्धि होगी। महिला जाति की सलाह लाभप्रद रहेगी।
मीन– महत्वपूर्ण निर्णय लेने में हिचकिचाहट हो सकती है। पुराने मित्र मिलेंगे। साहसिक प्रयत्न से अभीष्ट कार्यों की प्राप्ति होगी। दूर दराज की यात्रा का योग है।
व्यापार भविष्य :
चैत्र कृष्ण द्वादशी को शतभिषा नक्षत्र के प्रभाव से रूई, कपास, सूत, वस्त्र, सन, मैथी, तांबा के भाव में समानता रहेगी। मोट, मसूर, बाजरा, मक्का, गुड़, मूंगफली, तेल, घी में तेजी का रूख रहेगा। अन्य वस्तुओं में पहली बनी लाईन समानता की रहेगी। भाग्यांक 2563 है।