वायरल चिट्ठी : असम के दो बच्चों ने पीएम मोदी और सीएम को लिखा खत, वजह जानकर छूटेगी हंसी

    असम : कभी-कभी नन्हे बच्चे ऐसी मासूम हरकत कर जाते है कि हमें उन पर बेहद प्यार आता है और हमारी हंसी छूट जाती है। जी हां असम के दो नन्हे बच्चों ने देश के प्रधानमंत्री मोदी और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा को चिट्ठी लिखी है। इस खत के माध्यम से नाने बच्चों ने अपनी समस्या दोनों नेताओं के सामने रखी है। आइए जानते है क्या है इन बच्चों की परेशानी… 

    सोशल मीडिया पर वायरल हो रही चिट्ठी 

    आपको बता दें कि इन दो बच्चों की चिट्ठी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। बच्चों ने इस खत के माध्यम से अपनी समस्या दोनों नेताओं के सामने रखी है। इन बच्चों की परेशानी इतनी क्यूट है, की आपको भी सुनकर हंसी आ जायेगी। चिट्ठी में लिखे शब्दों को देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि इसे दोनों ने अपने हाथ से लिखी है। बच्चों की दोनों चिट्ठियों को सोशल मीडिया पर लोग बेहद पसंद कर रहे है। 

    जानें क्या लिखा है चिट्ठी में 

    आर्यन की चिट्ठी 

    इन दोनों बच्चों का नाम रावजा और आर्यन है। आर्यन पांच साल का है और राजवा छह साल का है। आपको बता दें कि दोनों ने अलग-अलग चिट्ठी लिखी है। आर्यन ने पीएम मोदी के लिए लिखा है, ‘प्यारे मोदी जी.. मेरे तीन दांत नहीं आ रहे हैं, कृपया उचित कदम उठाए, इस कारण मुझे अपने पसंदीदा खाने को चबाने में दिक्कत हो रही है।

    रावजा की चिट्ठी 

    वही दूसरी और रावजा ने असम के सीएम को चिट्ठी में लिखती है,  ‘प्यारे हिमंत मामा, मेरे दांत नहीं आ रहे हैं। कृपया आवश्यक कार्रवाई करें क्योंकि मुझे काफी दिक्कत हो रही है और खाना चबाने में बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।’ साथ ही दोनों बच्चों ने चिट्ठी में ड्राइंग भी बनाई है। इन दोनों भाई- बहन ने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम हिमंत बिस्वा सरमा को दो अलग-अलग  चिट्ठी भेजी है। 

    चाचा ने शेयर की चिट्ठी 

    आपको बता दें कि इन चिट्ठियों को अहमद नामक शख्स ने फेसबुक पर पोस्ट किया है। इसे पोस्ट करते हुए लिखा है कि, ‘नरेंद्र मोदी जी और हिमंत बिस्वा सरमा जी, मेरी भतीजी रावजा और भतीजे आर्यन की तरफ से यह लिखा गया है। मैं घर पर नहीं ड्यूटी पर हूं, मेरी भतीजी और भतीजे ने यह खुद लिखा है। प्लीज उनके दांतों के लिए कोई जरूरी काम करें क्योंकि वे अपने पसंदीदा भोजन को चबा नहीं सकते हैं।