parrot
File Pic

    ब्यूनस आयर्स.  क्या कभी जान भी इंसानी अपराधों के मुख्य गवाह हो सकते हैं।  जी हाँ अर्जेंटीना (Argentina) में रेप और हत्या (Rape & Murder) के ऐसे ही एक मामले में अब एक तोता (Parrot) मुख्य गवाह है।  इतना ही नहीं कोर्ट में तोते की बाकायदा गवाही भी हुई और उसके आधार पर कुछ आरोपियों को दोषी करार भी दिया जा सकता है।  दरअसल 46 वर्षीय एलिजाबेथ टोलेडो (Elizabeth Toledo) की बलात्कार के बाद उनकी जघन्य हत्या कर दी गई थी।  जिस वक्त यह वारदात हुई उनका तोता वहीं घटनास्थल मौजूद था।  इसलिए अभियोजन पक्ष ने अब इसी तोते को मुख्य गवाह के तौर पर कोर्ट के सामने पेश भी किया है।  और हाँ ये तोता बोल सकता है। 

    घर पर मिला था महिल का शव

    इस बाबत ‘द सन’ की रिपोर्ट के अनुसार, एलिजाबेथ टोलेडो दो अन्य लोगों के साथ एक किराए के मकान में रखती थीं।  जहाँ पुलिस को एलिजाबेथ का शव उनके घर में ही बरामद हुआ था।  वहीं पुलिस को शक था कि मृतका के साथ रहने वालों ने ही इस खुनी वारदात को अंजाम दिया होगा।  लेकिन पूछताछ में उसे कुछ भी खास नहीं मिला था।  लेकिन यहाँ अब इसी तोते की गवाही इसके दोषियों को सजा दिला सकती है। 

    ऐसे गवाह बन गया तोता  

    इस रिपोर्ट में यह भी साफ़ लिखा है कि घटनास्थल पर मौजूद एक पुलिसकर्मी ने तोते को कुछ बडबडाते हुए सुना था।  जिसके बाद उसे लगा कि इस तोते की गवाही अब इस केस का रुख पलट सकती है।  इसके बाद अर्जेंटीना के सैन इसिड्रो की अदालत में पुलिस ने बताया कि तोता घटना के समय कुछ बोल रहा था, जो शायद उसकी मालकिन के आखिरी शब्द थे।  इतना ही नहीं मृतक महिला के पड़ोसियों ने भी उसे ‘नहीं, कृपया, मुझे जाने दो, तुमने मुझे क्यों मारा’ बोलते हुए सुना था।    

    हो सकती है उम्रकैद की सजा 

    इधर अब पुलिस का मानना है कि एलिजाबेथ टोलेडो ने मरने से पहले आरोपियों से शायद यही कहा होगा, जिसे वहां मौजूद उनके तोते ने याद कर लिया और बाद में वो उसे बार-बार दोहराने लगा।  इधर अब पुलिस ने 53 वर्षीय मिगुएल रोलन और 65 वर्षीय जॉर्ज अल्वारेज़ के खिलाफ केस दर्ज किया है।  अब यदि इन दोनों को ही दोषी पाया जाता है तो उन्हें अब उम्रकैद की सजा हो सकती है। इतना ही नहीं तोते की इस गवाही के अलावा, पुलिस को मृतका की DNA रिपोर्ट से भी कुछ बड़े और अहम सुराग मिले हैं।  बता दें कि, एलिजाबेथ टोलेडो की दिसंबर, 2018 में बलात्कार के बाद उनकी जघन्य हत्या कर दी गई थी।