well-of-hell
Well-of-Hell

    नयी दिल्ली. एक बड़ी ही सनसनीखेज खबर के अनुसार वैज्ञानिकों को खाड़ी देश यमन (Yemen) में नर्क का कुआं (Well Of Hell) मिला है। इतना ही नहीं इस कुएं में बहुत सारे सांपों के झुंड और झरने हैं। कुछ लोग इस कुंए को ‘पाताल का रास्ता’ या ‘जिन्नों की जेल’ भी कह रहे हैं। लेकिन कई दशक तक यहाँ के स्थानीय  लोग इस कुएं के पास जाने से डरते और कतराते रहे।

    367 फीट गहरा है यह नर्क का कुआं

    दरअसल लाइव साइंस में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, यमन में मिले इस नर्क के कुएं का आधिकारिक नाम ‘बारहौत का कुआं’ है। बारहौत का कुआं (Well Of Barhout) करीब 367 फीट गहरा है। वहीं इस भयानक कुएं का व्यास (Diameter) 98 फीट है।

    नर्क के कुएं के अंदर मिलीं ये बड़ी चीजें

    Courtsey: Reuters

    पता हो कि ‘बारहौत का कुआं’ यमन के अल-माहरा राज्य के रेगिस्तान में ओमान के बॉर्डर के पास है। लेकिन हैरानी की बात ये है कि ओमान के रिसर्चर्स से पहले इस ‘नर्क के कुएं’ में कोई नहीं गया था ना ही इसके पास कोई फटका था। इसके अन्दर गए रिसर्चर्स को कई झरने दिखे। वहां सांपों के भी कई झुंड मिले।

    इन रिसर्चर्स की टीम के एक सदस्य और प्रोफेसर,मोहम्मद अल-किंडी ने बताया कि, हम यह जानना चाहते थे कि कुएं के अंदर क्या है? हालांकि ये थोडा डरावना जरुर था। इस रिसर्च से हमें यमन के इतिहास से जुड़ी कई जानकारियां मिल सकती हैं। रिसर्चर्स को नर्क के कुएं में मरे हुए जानवर और मोती भी मिले हैं।

    क्या लाखों साल पुराना है नर्क का कुआं

    गौरतलब है कि ये कुआं कितना पुराना है, फिलहाल रिसर्चर्स इसका पता नहीं लगा पाए हैं। लेकिन वहीं वैज्ञानिकों का मानना है कि नर्क का कुआं लाखों साल पुराना हो सकता है। इधर स्थानीय लोगों का मानना है कि जो भी नर्क के कुएं के पास जाता है वो उसे कुएं के अंदर खुद ही खींच जाता है। हालांकि वैज्ञानिकों को इसका कोई भी सबूत नहीं मिला है कि नर्क का कुआं ऐसे ही किसी को अपनी तरफ खींचता है।