Corona test
File Photo

    पुलगांव. शहर में इन दिनों कोरोना संक्रमित मरीज मिलने की संख्या में कमी आने की जानकारी प्राप्त हुई़ इसका प्रमुख कारण शासन, प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की सतर्कता का परिणाम है़ मंगलवार को स्टेट बैंक के सामने ग्रामीण रुग्णालय की टीम की ओर से 63 लोगों की एंटीजन जांच की, जिसमें कर्मचारी व ग्राहक का समावेश था़ इस दौरान एक ही मरीज संक्रमित मिला. बैंक के सुरक्षाकर्मी सैनिटाइजर, मास्क व बुखार की जांच कर ग्राहकों को बैंक में प्रवेश करने दे रहे है़ साथ ही दूरी बनाए रखने का पूर्ण प्रयत्न कर रहे है़ इधर ग्रामीण अस्पताल में दो दिन की गई एंटीजन जांच में 44 में से 3 मरीज संक्रमित पाए गए़ ऐसे कुल पांच ही मरीज मिलने की जानकारी वैद्यकीय अधीक्षक डा़ गोपाल नारलवार ने दी.

    नियमों का पालन करें नागरिक: डा. नारलवार 

    अब तक कोरोना के संक्रमित अधिकांश मरीज घरों में ही अपना इलाज करवा रहे है़  मरीजों ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्देशित नियमों का पालन कर अपनी स्वयं की सुरक्षा करनी चाहिए़  सर्दी, खांसी, बुखार होने पर अपनी जांच करने का आह्वान ने किया है. 

    नाचणगांव बना हाटस्पाट

    वर्धा जिले की सबसे बड़ी ग्रापं नाचणगांव कोरोना का हाटस्पाट बनता जा रहा है़  यहां पर उद्योजक, राजनेता के साथ ही अनेक संक्रमित पाए गए़  कोरोना की शुरूआत 22 मार्च 2020 से हुई. इसके बाद इस परिसर में अब तक 438 मरीज संक्रमित पाए गए़  इसमें कई इलाज कराके संक्रमण से मुक्त हो गए है़  वर्तमन में परिसर में 102 मरीज संक्रमित है़  इसमें 97 मरीज अपने घर पर ही इलाज करवा रहे है़  5 मरीज का अन्य बीमारी के तहत वर्धा अस्पताल में उपचार चल रहा है.  

    तकलीफ होने पर स्वास्थ्य केंद्र में जाएं: डा. ताम्हणकर

    वैद्यकीय अधीक्षक डा़ श्रीधर ताम्हणकर के अनुसार घर पर इलाज करवाने वाले मरीजों का पूरी तरह ख्याल रखा जा रहा है़  संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वालों की भी जांच की जा रही है़  सभी ने कोरोना नियमों का पालन करना चाहिए़  किसी भी प्रकार की तकलीफ होने पर स्वास्थ्य केंद्र में अपनी जांच व इलाज करवाना चाहिए.