रिश्वत : ग्रामसेवक को रंगेहाथ पकडा, पांच हजार की थी मांग

  • पखवाडे में एसीबी की तीसरी कार्रवाई

वर्धा. पांच हजार रुपयों की रिश्वत लेते ग्रामसेवक को एन्टी करप्शन ब्यूरो की टिम ने रंगेहाथ दबोचा. गत पखवाडे में एसीबी की यह तीसरी कार्रवाई है. इसके पूर्व तलेगांव में एक पुलिस कर्मी, समुद्रपुर में वनरक्षक व अब ग्रामसेवक एसीबी के हाथ लगा.

प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी ग्रामसेवक राजेंद्र आत्माराम भोवते (45) यह देवली पंचायत समिति में बतौरग्रामसेवक कार्यरत है. शिकायतकर्ता ने ग्रापं इमारत के पेन्टींग का ठेका लिया था. आधे से अधिक काम पुर्ण कर इसका 1 लाख 40 हजार रुपयों का बील भेजा गया. पुर्ण किये गए काम का बिल शिकायतकर्ता को प्राप्त हुआ था. किन्तु उक्त बिल निकालने के ऐवज में ग्रामसेवक भोवते ने 7 हजार की रिश्वत मांगी. पश्चात दोनों में 5 हजार पर बात पक्की हुई. जबकि शेष राशी बाद में दी जाएंगी, ऐसा बताया गया.

इस संबंध में शिकायत प्राप्त होने से एसीबी ने जाल बिछाकर रिश्वत स्विकारते ग्रामसेवक भोवते को रंगेहाथ पकडा. इस कार्रवाई को नागपुर एसीबी के पुलिस अधीक्षक रश्मी नांदेडकर, अपर पुलिस अधीक्षक राजेश दुद्दलवार, पुलिस उप अधीक्षक विजय माहुलकर के मार्गदर्शन में वर्धा के पुलिस उपअधीक्षक गजानन विखे, पुलिस निरीक्षक सुहास चौधरी, पुलिस कर्मी रोशन निंबोलकर, अतुल वैद्य, सागर भोसले, कैलास वालदे, पल्लवी बोबडे, अपर्णा गीरजापुरे ने अंजाम दिया.