घटी बिक्री, डुबा राजस्व : केवल 25 प्रतिशत पंजीयन

  • राजस्व टार्गेट 50 प्रतिशत गिरा

– गजानन गावंडे

वर्धा. कोरोना का असर उदयोग के साथ ही सरकार के राजस्व पर भी बुरी तरह प्रभाव डाल रहा है.गत 6 माह में उपप्रादेशिक परिवहन विभाग के राजस्व में भारी गिरावट दर्ज की गई है.गाडीयों की बिक्री में गिरावट होने के कारण उसका असर हुआ है.15 सितंबर तक केवल 25 प्रतिशत गाडीयों का पंजीयन होने के कारण राजस्व में 50 प्रतिशत की कमी आयी है.जिससे निर्धारीत टार्गेट पुरा करते समय न प्रशासन के सामने भविष्य में चुनौती निर्माण होनेवाली है.

गत कुछ वर्षा में दुपहियां गाडीयों के साथ चार पहियां वाहनो के पंजीयन में प्रतिवर्ष वृद्धी हो रही थी.जिससे उपप्रादेशिक परिवहन विभाग के राजस्व में काफी बढोत्तरी दर्ज की गई. दुपहियां व कार का पंजीयन गत पांच वर्षा में सबसे अधिक हुआ है.किंतु कोरोना संक्रमन के कारण लॉकडाऊन व ग्राहकों ने मुंह फेरने से वाहनों की बिक्री में बडे पैमाने पर कमी आयी. गत वर्ष के पंजीयन का अवलोकन करने पर बिते साडे पांच माह में केवल 25 प्रतिशत पंजीयन हुआ है.1अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2020 तक जिले में 16931 छोटे व बडे वाहनों का पंजीयन हुआ है. सबसे अधिक पंजीयन मोटरसायकल व स्कूटर का हुआ है.बिते आर्थिक वर्ष में 13477 दुपहिया वाहन पंजीयन हुये है.जिसमें 1523 कार व 10 कैब कृषि टैक्टर 534 तथा कृषी ट्रेलर 115, दिव्यांग वाहन 17, बस 48, निर्माण कार्य वाहन 49, मालवाहू 666 तथा अन्य वाहनों का समावेश है.

केवल 4602 वाहनों अबतक पंजीयन 

अनलॉक में उदयोगों पर लगाई गई पाबंदी हटाने के बाद वाहन क्षेत्र में कुछ हद तक तेजी आयी. किंतु कोरोना का भय व अन्य कारणों के कारण उत्पादन पर भी असर हुआ.साथ ही ग्राहकों ने मुंह फेर लिया.नतिजन कार, मोटरसायकल व स्कूटर के बिक्री में गिरावट आयी. जिससे 1 अप्रैल से 15 सितंबर तक केवल 4602 वाहनों का पंजियन हुआ. जिसमें मोटरसायकल व स्कूटर की संख्या अधिक है. 3675 दुपहियां वाहनों के साथ 326 कार, कैब 4,बस 2,ट्रैक्टर 426  व अन्य वाहनों का समावेश है.गत वर्ष 6 माह में करीब 7 हजार वाहनों का पंजीयन हुआ था.

स्कूल, कॉलेज बंद का भी असर  

कोरोना के कारण स्कूल व कॉलेजों पर पाबंदी होने के कारण मोटरसायकल व स्कूटर की बिक्री घटने की जानकारी क्षेत्र से जुडे जानकारों ने दी. जून से अगस्त माह तक दुपहियां वाहनों की बिक्री बडे पैमाने पर होती थी.अपितुं इस बार भारी कमी आयी है.गुडीपाडवा, रामनवमी,अक्षयतृतिया के मुर्हत पर नागरिक वाहन खरेदी करते है.किंतु इस बार इन मुर्हत पर खरेदी कम होने की जानकारी विभाग ने दी.

6 माह में केवल 10 करोड से भी कम राजस्व     

बिते 6 माह में उप प्रादेशिक परिवहन विभाग को 10 करोड से भी कम राजस्व मिला है.बिते आर्थिक वर्ष में विभाग ने 41 करोड 26 लाख का राजस्व प्राप्त किया था.प्रतिमाह करीब 3.75 करोड रूपयों की आमदनी विभाग को हुई थी.बावजूद इसके नये आर्थिक वर्ष में 30 सितंबर तक केवल 9 करोड 90 लाख रूपये तक राजस्व मिलने का अनुमान लगाया गया है.विभाग के राजस्व में भी 50 प्रतिशत की गिरावट आयी है.इस आर्थिक वर्ष यह गिरावट कायम रह सकती है.अगले दो माह में  दशहरा व दिवाली होने के कारण वाहनों के पंजीयन में वृद्धी होने का अनुमान है.अपितुं कोरोना संक्रमन की स्थिती पर सब निर्भर रहेगा.

सहायक उप प्रादेशिक परिवहन अधिकारी विजय तिरणकर       

वाहनों की बिक्री कम हुई         

कोरोना संक्रमण व बन्द के चलते वाहनों की बिक्री में कमी आयी है.सरकारी निर्देशो के कारण शोरूम अधिक ग्राहकों प्रवेश नही दे सकते.ग्राहक भी बड़ी खरेदी के लिये तयार नही है.स्कूल व कॉलेज बन्द का असर भी हुआ है.   

– दिलीप कृपलानी, संचालक हरिसन्स मोटर्स, वर्धा