27 candidates in the fray for the election of Teachers Voters' Union

नागपुर. विप स्नातक चुनाव की सरगर्मियां तेज हो गई है. उक्त चुनाव को लेकर एक ओर जहां भाजपा नेता एवं पूर्व मंख्यमंत्री देवेंद्र पडणवीस ने ताकत झोंक दी है. जगह-जगह बैठकें लेकर कार्यकर्ताओं को मनोबल बढ़ाकर मतदाताओं को आकर्षित करने का प्रयास किया जा रहा है. कांग्रेसियों ने भी लंबे समय से उक्त सीट पर कब्जा जमाए बैठी भाजपा को सबक सिखाने के लिए कांगेस के स्थानीय नेता भी पूरी तैयारियों में लगे हुए हैं. कांगेस को आघाड़ी का भी साथ मिल रहा है. भाजपा से बदला चुकाने के कलिए शिवसेना ने भी शतरंज की विसात पर अपने मोहरे बिछा दिए हैं. नागपुर, वर्धा, चंद्रपुर,गड़चिरोली, भंडारा, गोंदिया में इन दिनों उक्त चुनाव को लेकर घमासान आरंभ हो चुका है.

वर्धा के 3 मैदान में

भाजपा, कांग्रेस के साथ अन्य दल के पदाधिकारी व कार्यकर्तां चुनाव प्रचार में सक्रिय हो गये हैं. प्रमुख दल के प्रत्याशी समुह बैठक पर जोर लगा रहे हैं, वहीं निर्दलीय वोटरों के घर जाकर उन्हें रिझाने का प्रयास किया जा रहा है. मैदान में कुल 19 प्रत्याशी है. इसमें वर्धा जिले के केवल तीन प्रत्याशी होने के कारण स्थानीय मुद्दा भुनाने का कार्य किया जा रहा है. स्नातक चुनाव के लिये कांग्रेस के अभिजीत वंजारी, भाजपा के संदीप जोशी, राजेंद्रकुमार चौधरी रिपाइं खोब्रागड़े, राहूल वानखेड़े वंचित समेत कुल 19 प्रत्याशी मैदान में है. जिले के निवासी राजेंद्र भूतड़ा, नीलेश कराले, संगिता बढ़े भी अपना नसीब आजमा रही हैं.

कुल 2,6,454 वोटर

नागपुर संभाग में कुल 2,6,454 वोटर है. 1 दिसंबर को मतदान होनेवाला है. कुछ ही दिन का समय शेष रहने के कारण प्रचार तेज हो गया है. जिले के 35 केंद्रों पर मतदान होगा. भाजपा व कांग्रेस के स्थानीय नेता इस बार ऐड़ीचोटी का जोर लगा रहे हैं. भाजपा के सांसद रामदास तड़स, विधायक डा. पंकज भोयर, समीर कुणावार, दादाराव केचे व अन्य नेता समुह बैठक पर जोर दे रहे हैं. कांग्रेस के भी स्थानीय नेता मतदाताओं से संपर्क कर उनकी चुहा बैठक ले रहे हैं. सन 2014 की तुलना में इस बार वोटर कम हो गये है. जिले में केवल 23 हजार 68 मतदाता है. करीब 7 हजार मतदाता इस बार कम हुए हैं. अनेक मतदाता नये से जुड़ने के कारण किसकी झोली में उनका वोट जाता है इस पर सब निर्भर होगा. स्थानीय मुद्दा भुनाने का कार्य होने के कारण वह कितना असरदायी होता है, यह भी देखना होगा. आनेवाले दिनों में चुनाव की गतविधियां और तेज होंगी.