फिर एक बार शर्मसार हुई इंसानियत, दो मासूमों को बनाया हवस का शिकार

  • 24 वर्षिय दुष्कर्मी हिरासत में

वर्धा. इंझाला में 7 वर्षिय बालिका से सामुहिम दुष्कर्म मामले की चर्चा थमी ही नहीं थी कि, जिले में फिर एक बार इन्सानियत शर्मसार हुई़ शहर से सटे सिंदी (मेघे) परिसर में 24 वर्षिय दूराचारी ने दो मासूमों को अपने हवस का शिकार बनाया़ उक्त गंभीर मामला रविवार, 9 अगस्त की सुबह प्रकाश में आते ही जिले में हडकम्प मच गया.

बता दे कि, पुलगांव थाना अंतर्गत आनेवाले इंझाला पारधी बेडे पर तीन आरोपियों ने बालिका पर सामुहिक दुष्कर्म करने का मामला शनिवार को सामने आया था़ इस प्रकरण में पुलिसजांच चल ही रही थी कि, रामनगर थाना अंतर्गत सिंदी (मेघे) परिसर में पुन: दो बालिकाओ से हैवानियत का मामला सामने आते ही जिला सकते में आ गया़ पुलिस सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार सिंदी (मेघे) निवासी 9 व 7 वर्षिय पीडिता रिश्तेदार व आसपडोस में रहते है़ गुरुवार को परिवार के सदस्य अपने काम से बाहर जाने के कारण दो बालिका व छोटा भाई तीनों ही घर में अकेले थे़ अवसर का लाभ उठाते हुए परिसर निवासी छोट्या नामक 24 वर्षिय युवक बालिकाओं के घर पहुंचा़ युवक दोनो बालिकाओ को लेकर मकान के भितर गया़ जबकि 9 वर्षिय पीडिता के छोटे भाई को को मकान के बाहर रख दिया़ युवक ने दोनो मासूमो पर डराधमकाकर अत्याचार किया़ इसके बाद उसने इस संबंध में किसी से कुछ कहने पर दोनो पीडिता व छोटे बालक को जान से मारने की धमकी दी व वहां से निकल गया.

परिजनो के उडे होश
तीन दिन दिन से पीडिता व बालक डरेसहमे दिखाई दे रहे थे़ परिजनों भी उनके बर्ताव से चिंतीत थे़ इसी बीच छोटे बालक को विश्वास में लेकर पुछताछ करने पर उसने अपनी माँ के पास घटना के बारे में बताया़ यह बात सुनते ही परिजनो के होश उड गए़ पश्चात दोनो डरीसहमी पीडिताओं ने भी आपबिती कथन की़ परिजनो ने रामनगर थाने में पहुंच कर शिकायत दर्ज की़ इसके आधार पर पुलिस ने विविध धाराओं के तहत दुष्कर्मी के खिलाफ दो अलग अलग मामले दर्ज किए़ समाचार लिखे जाने तक दूराचारी को हिरासत में लिया गया था. 

घटनास्थल पहुंची पुलिस
मामला प्रकाश में आते ही उपविभागीय पुलिस अधिकारी पियुष जगताप, थानेदार धनाजी जलक, एपीआई संजय मिश्रा व पोस्को सेल की टिम घटनास्थल पहुंची़ पुलिस ने घटनापंचनामा कर पीडिताओं को वैद्यकीय जांच के लिए अस्पताल भेज दिया.