फडणवीस के आदेश से, नेता लगे काम से

– गजानन गावंडे ‍

वर्धा. स्नातक चुनाव को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के सख्त आदेश आने के उपरांत स्थानीय नेता काम से जुटे गये है. गत चार दिनों से नेताओं ने बैठकों का दौर शुरू किया है. मतदान को एक सप्ताह शेष होने के बावजूद मतदाताओं को रिझाने का काम भाजपा के नेता कर रहे है.

विधान परिषद चुनाव को लेकर भाजपा सजग दिख रही है. गत चुनाव में गडकरी के करीबी अनिल सोले चुनाव जिते थे. इस बार भी उन्हें टिकट मिलने की उम्मीद थी. किंतु ऐन मौके पर फडणवीस गुट ने बाजी मारी. नागपुर के महापौर संदीप जोशी को टिकट दिया गया. गडकरी गुट का पत्ता कट जाने से गडकरी समर्थकों में नाराजगी दौर चला. किंतु वरिष्ठ नेताओं ने नागपुर संभाग स्नातक चुनाव सिट किसी भी हाल में पार्टी के पास रहने के निर्देश दिये. संदीप जोशी पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस के बेहद करीबी माने जाते है. विधान परिषद में अपने खास व्यक्ति को फडणवीस लाना चाहते है. जिससे उन्होंने यह सिट प्रतिष्ठा की की है. नागपुर विभाग के भाजपा के सभी विधायकों समेत सांसदों पर फडणवीस ने जिम्मेदारी सौंपी है. फडणवीस ने सभी विधायक, सांसद व जिलाध्यक्ष समेत अन्य पदाधिकारियों को सख्त निर्देश देकर कहां है की, किसी हाल में जोशी चुनाव जितने चाहिए. जिस क्षेत्र से कम वोट मिलेंगे उस जनप्रतिनिधि व पदाधिकारी पर एक्शन ली जायेगी. परिणामवश जनप्रतिनिधि व पदाधिकारी ऐडीचोटी का जोर लगा रहे है. जिले में भाजपा के 3 विधायक है.

साथ ही सांसद व एक विधान परिषद सदस्य है. सभी को चुनाव काम में लगा दिया है.वर्धा के विधायक डा.पंकज भोयर, आर्वी के दादाराव केचे व हिंगनघाट समीर कुणावार के साथ ही सांसद तडस की और विशेष जिम्मेदारी सौंपी गई है. कुणावार कोरोना संक्रमित होने के बावजूद पदाधिकारियों के संपर्क में है. उन्होंने अपने खास समर्थकों को जिम्मेदारी सौंपी है. वर्धा के विधायक डा.पंकज भोयर गत सप्ताह भर से स्वंय जुटे है. आर्वी के विधायक केचे मतदाताओं से संपर्क कर उनकी बैठक ले रहे. सांसद रामदास तडस देवली के साथ अन्य तीन विधानसभा क्षेत्र के बैठकों उपस्थिति लगा रहे है. पूर्व मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने दो बार जिले का दौरा कर भाजपा नेता, कार्यकर्ताओं की बैठक लेकर मतदाताओं संपर्क कर रहे है. विधान परिषद विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर जिले का दौरा कर जनप्रतिनिधि, पदाधिकारी व मतदाताओं से चर्चा करनेवाले है. चुनाव के मद्देनजर भाजपा ने सुक्ष्म नियोजन करने की जानकारी बावनकुले ने दी थी. हर जिले से अधिक वोट मिले इसपर खास ख्याल रखा जा रहा है. फडणवीस भी निरंतर चुनाव का अपडेट ले रहे है, कोई खामी दिखने पर उसे सुधारने के निर्देश भी उनके द्वारा दिये जा रहे है.

गडकरी गुट लगा काम पर

टिकट को लेकर नाराज रहा गडकरी गुट भी अब काम पर लग गया है. गडकरी ने निर्देश देने के बाद उनके गुट ने अपना कार्य आरंभ करने की जानकारी सुत्रों ने दी. उल्लेखनीय है की, स्नातक चुनाव क्षेत्र से गडकरी ने महाराष्ट्र की राजनीति में प्रवेश किया था. जिससे वे भाजपा का परचम इस क्षेत्र से छोडना नही चाहते है, ऐसी जानकारी गडकरी गुट ने दी.

बैठकों का दौर शुरू

मतदान की तिथि समिप आने के कारण भाजपा ने बैठकों दौर तेज कर दिया है. सोमवार को पूर्व मंत्री बावनकुले ने भी वर्धा व हिंगनघाट में बैठक ली. शनिवार को स्वंय संदीप जोशी ने वर्धा में दिन भर बैठक ली. भाजपा की सभी विंग चुनाव कार्य में जुट गई है.

कॉंग्रेस सेंध लगाने की तैयारी में

स्नातक चुनाव में कॉंग्रेस पहली बार आरपार के मुड में दिखाई दे रही. कॉंग्रेस के साथ ही राष्ट्रवादी व शिवसेना के नेता मतदाताओं से संपर्क कर उन्हें रिझाने का काम कर रहे है. कॉंग्रेस के पूर्व मंत्री रणजीत कांबले, पूर्व विधायक अमर काले स्वंय चुनाव समिकरण बनाने में लगे है. कॉंग्रेस के प्रत्याशी अभिजीत वंजारी ने वर्धा में अपना प्रचार कार्यालय खोलकर बैठकों सिलसिला शुरू कर दिया.भाजपा के गड को महाविकास आघाडी इस बार सेंध लगाने की जी तोड कोशिश कर रही है.