fraud

    वर्धा. किराये के गोदाम में रखा अनाज परस्पर बिक्री कर 2.4 करोड़ की हेराफेरी मामले में आर्थिक अपराध शाखा पुलिस द्वारा दस्तावेजों की जांच पड़ताल की जा रही है़ प्रकरण में गिरफ्तार मुख्य आरोपी कैलास काकडे के निवास व दूकानों से पुराने बिल तथा महत्वपूर्ण कागजात जब्त किए जाने की जानकारी है.

    ज्ञात हो कि स्थानीय यशवंत कालोनी निवासी कैलास अजाब काकडे (41) ने जिओकेम कंपनी के कर्मचारी विजयसिंग भिमसिंग ठाकुर (49) व राकेश नजरु कोगे (26) के साथ मिलकर गोदाम में रखा 112.367 मीट्रिक टन चना कीमत 58 लाख रुपए व 323.04 मीट्रिक टन तुअर जिसकी कीमत 1 करोड़ 46 लाख रुपए सहित कुल 2 करोड़ 4 लाख रुपए का माल पांच किसानों के नाम पर परस्पर बेच दिया़ 2018 में सामने आये इस प्रकरण में आर्थिक अपराध शाखा पुलिस ने तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है.

    फिलहाल पुलिस ने काकडे के निवास व दूकानों में पहुंचकर प्रकरण से जुड़े सभी दस्तावेज तथा पुराने बिल जब्त करने की जानकारी है़ साथ ही काकडे सहित अन्य दो आरोपियों के बयान दर्ज किये जा रहे है. प्रकरण में आगे की जांच पीआई भानुदास पिदुरकर के नेतृत्व में हो रही है.