MP Ramdas Tadas, Nivedan

  • तिलक मार्केट में सब्जी विक्रेता और व्यापारी में मारपीट का मामला

वर्धा. तिलक मार्केट परिसर के सब्जी विक्रेता व व्यापारियों के बीच चल रहे गतिरोध पर सांसद रामदास तड़स के दरबार में नगराध्यक्ष की उपस्थिति में दो बार बैठक हुई. बैठक में जो वादा किया गया, उससे नेताओं ने वादाखिलाफी की, जिससे व्यापारियों में रोष व्याप्त है. बुधवार को सब्जी विक्रेता व सराफा व्यवसायियों के बीच विवाद हुआ था. उपरांत व्यापारियों ने एकजुटता का परिचय देते हुए थाने पर दस्तक देकर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की थी. सब्जी विक्रेताओं ने भी व्यापारियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर कार्रवाई की मांग की थी. तत्पश्चात गुरूवार को यह मामला सांसद के दरबार में पहुंचा.

उन्होंने व्यापारी संगठन व सब्जी विक्रेताओ से चर्चा की थी. शुक्रवार को इस संदर्भ में नगराध्यक्ष, मुख्याधिकारी के समेत सब्जी विक्रेता व व्यापारियों के प्रतिनिधियों की बैठक बुलाई. सांसद व नगराध्यक्ष ने अलग-अलग दोनों गुटों से चर्चा कर नगर परिषद के पुरानी बिल्डिंग की जगह पर सब्जी विक्रेताओं को जगह देने का आश्वासन देते हुए शनिवार को जगह का अवलोकन कर पुन: बैठक लेने का आश्वासन दिया था. शनिवार को पुन: सांसद तड़स, नगराध्यक्ष अतुल तराले, नप उपाध्यक्ष प्रदीप ठाकुर, मुख्याधिकारी विपीन पालीवाल, थानेदार सत्यजीत बंडीवार की उपस्थिति में बैठक हुई. व्यापारियों को दिए आश्वासन को दरकिनार कर अलग की निर्णय लिया गया. व्यापारियों की ओर से राहुल करंडे बैठक में उपस्थित थे.

उसी जगह पर कायम रहेंगे सब्जी विक्रेता

शनिवार को पुन: ली गई बैठक में नगर परिषद की पुरानी इमारत की जगह न देते हुए 10 वर्ष से अधिक समय से तिलक मार्केट में सब्जी बेचने वाले विक्रेताओं को उसी जगह पर रखा जाएगा. उन्हें एक कार्ड दिया जाएगा. सब्जी विक्रेताओं को ठाकरे मार्केट में जगह दी जाएगी. हाथगाड़ी पर घूमने वाले विक्रेताओं के कारण यातायात की समस्या निर्माण होने से उन पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया. इसकी जिम्मेदारी नगर परिषद के अधिकारियों के कंधों पर होगी. पुलिस व नप के कर्मी परिसर में तैनात रहेंगे. ऐसा भी निर्णय बैठक में हुआ.

पुरानी हाथगाड़ी वालों की संख्या 40  

दस वर्षों से हाथगाड़ी पर फल तथा सब्जी बेचने वालों की संख्या 40 के करीब है. उक्त विक्रेता अंबिका चौक से तिलक चौक तक हाथगाड़ी लगाते है. नप की वादाखिलाफी के कारण 40 हाथगाड़ियां पुन: उक्त परिसर में रहने से समस्या जस की तस बनी रहेगी. 

समस्या हल होना आवश्यक 

तिलक मार्केट की समस्या जटिल बनी हुई है. यह समस्या हल होना आवश्यक है. शुक्रवार के निर्णय पर नेताओं ने कायम रहना था. किंतु अपनी बातों से वे मुकर गए. नप संवेदनशील है तो यह समस्या हल कर सकती है. नहीं तो यह समस्या कायम रहेगी. परिसर में नप कर्मी व पुलिस प्रतिदिन रहनी चाहिए. तब ही समस्या का समाधान हो सकता.