अब तक 34.26 मीमी बारिश, जलाशयो में 36.36 फीसदी जलभंडार

    वर्धा. पिछले साल की तूलना में इस बार जिले में बारिश की शुरुवात धीमी दिखाई दें रही है़ परंतु मानसून के समय पर आने की संभावना के साथ ही आगामी दिनों में बारिश अच्छी होने का अनुमान जताया गया है़ 1 जून से अब तक जिले में औसतन 34.26 मीमी बारिश दर्ज की गई़ इसी के साथ ही जलाशयों में 36.36 फीसदी जलभंडारण होने की जानकारी है़ जबकि बडे व मध्यम 11 में से 4 जलाशय सुखबता दे कि, दो वर्ष पहले जिले में भिषण जलसंकट का सामना लोगों को करना पडा़ इसके बाद जिले में औसतन से अधिक बारिश हुई़.

    फलस्वरुप 2020 में जिले के सभी जलाशय लबालब भर गए़ इसी के चलते गर्मी के दिनों में जिले में जलकिल्लत का सामना नहीं करना पडा़ वर्तमान स्थिति में भी जिले के अधिकांश जलाशयो में पर्याप्त जलभंडार बताया जा रहा है़ वहीं रोहिणी व मृग नक्षत्र पर भी जिले में बारिश ने दस्तक देने से सर्वत्र राहत व्यक्त की जा रही है़ 1 जून से अब तक जिले में औसतन 34.26 मीमी बारिश हुई है़ वर्धा तहसील में 21.43 मीमी, सेलू में 48.40, देवली में 60.27, हिंगनघाट 38.18, समुद्रपुर 18.85, आर्वी 35.48, आष्टी 14.52 व कारंजा तहसील में 36.95 मीमी बारिश दर्ज की गई है़ 

    4 जलाशय ठन ठन

    इस बार मई में सूरज ने अपने तेवर दिखाए़ इसी दौरान जलाशयो का जलभंडार भी तेजी से घटा नजर आया़ वर्तमान में जिले के पोथरा, मदन उन्नई, लाल नाला व सुकली लघु प्रकल्प पुर्णत: सुख चुके है़  

    प्रकल्प        जलभंडारण

    बोर प्रकल्प     41.77

    निम्न वर्धा      51.42

    धाम प्रकल्प    24.49

    पोथरा          00.00

    पंचधारा        23.31

    डोंगरगांव      19.12

    मदन प्रकल्प   33.23

    मदन उन्नई    00.00

    लाल नाला     04.36

    वर्धा कार नदी  18.11

    सुकली लघु    00.00