परिचारिका पर बरसाये डंडे, चार किमी तक किया पिछा

  • आकोली परिसर की घटना
  • कार्रवाई के नाम पर मनमानी, बिना मास्क पहने थे अधिकारी

वर्धा. कोरोना संदर्भ में कार्रवाई के नाम पर प्रशासकीय दस्तो की दादागीरी उजागर हो रही है़ दो दिन पूर्व आकोली में मास्क पहने होते हुए भी परिचारिका व उसके सहयोगी पर जुर्मानात्मक कार्रवाई की गई़ हद तो उस समय हुई जब, दस्ते में शामील एक ने परिचारिका पर डंडे बरसाये़ चार किमी तक परिचारिका का पिछा किया गया़ आकोली परिसर में सामने आयी इस घटना की सर्वत्र निंदा हो रही है़ 

कोरोना विषाणू का फैलाव रोकने प्रतिबंधात्मक उपाययोजना करने के नर्दिेश जिलाधिकारी ने जारी किए है़ इसके लिए दिये गए नियमों का पालन करने पर कार्रवाई हो रही़ प्रशासनिक स्तर पर विशेष दस्ते गांव-गांव जाकर उल्लंघन करनेवालों पर कार्रवाई कर रहे है़ दो दिन पूर्व सेलु पंस स्वास्थ्य विभाग के वस्तिार अधिकारी रामशरण बुंदेले के नेतृत्व में एक दस्ता तामसवाडा परिसर में मौजुद था़ इसी दौरान एक परिचारिका अपने सहयोगी के साथ रिधोरा बांध पर पहुंची थी़ यह दोनो दुपहिया से निकलते हुए दस्ते को दिखाई दिए़ उन्होंने दुपहिया रोकने को कहा, कन्तिु पुलिस समजकर युवक ने दुपहिया नहीं रोकी़ करीब चार किमी तक उनका पिछा कर दस्ते ने आकोली परिसर में इंगोले के खेत समीप दुपहिया को रोक लिया़ उसी समय दस्ते में शामील एक ने परिचारिका पर डंडे बरसाना शुरु कर दिया़ इतना ही नहीं तो उसका पहचानपत्र भी छीन लिया़ उक्त परिचारिका सावंगी अस्पताल की होने की बात सामने आयी़ यह वाकिया सामने आने से ग्रामीणों ने घटनास्थल पर भीड की़ उल्लेखनिय यह कि, परिचारिका व उसका सहयोगी दोनो के चेहरे ढके हुए थे, जबकि दस्ते के प्रमुख अधिकारी स्वयं बिना मास्क पहने हुए थे़ बावजुद इसके दोनों से जबरण प्रत्येकी 200 रुपए जुर्माना वसूला गया़ कार्रवाई के नाम पर प्रशासकीय दस्ते दादागीरी कर रहे है, ऐसी प्रतक्रियिा प्रत्यक्षदर्शियो ने व्यक्त कर घटना की निंदा की़ संबंधीत के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग नागरिक कर रहे है़ 

ऐसा कुछ नहीं हुआ – बुंदेले
इस संबंध में दस्ते के प्रमुख रामशरण बुंदेले से पुछने पर उन्होंने ऐसा कुछ भी न होने की बात कही़ पुलिस समज कर दोनो भाग रहे थे़ उनका पिछा कर मास्क न पहने होने के कारण जुर्मानात्मक कार्रवाई की गई, ऐसा उन्होंने बताया़ 

केवल जुर्माना ठोका गया – बीडीओ
सेलु पंस की बीडीओ संघमीत्रा कोल्हे ने परिचारिका से मारपीट होने की घटना को स्पष्ट नकारा़ मास्क न पहने होने के कारण दो लोगों से केवल जुर्माना वसूला गया़ घटना को लेकर किसी प्रकार की शिकायत भी नहीं मिली है, ऐसा भी बीडीओ कोल्हे ने कहा़