Suicide by hanging in Nanori-Dighori

    हिंगनघाट (सं.) कृषि उत्पन्न बाजार समिति कानगांव अंतर्गत व्यापारी ने किसानों से कपास खरीदा और उनके चुकारे दिए बिना फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. इस अप्रत्याशित घटना से कपास बेचने वाले किसान आर्थिक संकट में आ गए है.

    व्यापारी ने 147 किसानों से लगबग 1 करोड़ 40 लाख रुपए का कपास खरीदा और कानगांव के जनकेश्वर जीनिंग के परिसर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. चुकारे दिए बिना फांसी लगाकर आत्महत्या किए जाने से व्यापारी को कपास बेचने वाले किसान आर्थिक संकट में आ गए है.

    अभी बुआई का मौसम है और ऐसी हालात में किसान को पैसे की सख्त जरूरत होती है. इस स्थिति में उन्होंने अपनी समस्या बाज़ार समिति के सामने रखी लेकिन उन्होंने अपनी असमर्थता जताई. तब संकट में आए किसानों ने अपना दर्द पूर्व विधायक राजू तिमांडे के सामने रखकर संकट से निजात दिलाने की मांग की है.