Vaccination

    • टीकाकरण मुहिम हुई प्रभावित 

    वर्धा. जिले में गत डेढ माह से टीकाकरण मुहिम प्रभावित हुई है़ अब तक जिले में केवल 3.94 फीसदी ही लोगों का टीकाकरण पुर्ण होने की जानकारी है़ जिले की कुल जनसंख्या 13 लाख 91 हजार 890 बताई गई है़ परिणामवश शेष नागरिकों का टीकाकरण कैसे पुर्ण किया जाएंगा, यह प्रश्न जनता के मन में उठ रहा है़ स्थिति यह है कि, मंगलवार को दिनभरे में मात्र 16 लोगों ने ही दूसरा डोज पुर्ण किया है़ 

    बता दें कि, 25 मई तक जिले में 2 लाख 16 हजार 702 नागरिकों ने पहला टीका लिया है़ जबकि 54 हजार 876 लोगों ने दूसरा टीका पुर्ण किया है़ प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को प्राथमिकता दी गई़ दूसरे चरण में फ्रन्टलाईन वर्करों का टीकाकरण हुआ़ आज भी जिले में बडी संख्या में सरकारी कर्मचारी टीके से वंचित बताये जा रहे है़ शुरुवाती दिनों में युध्दस्तर पर टीकाकरण मुहिम चलायी गई थी़ परंतु गत डेढ माह से वैक्सीन की आपूर्ति ठप होने से टीकाकरण प्रभावित हो गया है़.

    शुरुवाती दिनों में जहां केंद्रों की संख्या 109 तक पहुंच चुकी थी, जो वर्तमन में केवल 40 रह गई है़ इसमें भी कुछ केंद्रों पर केवल आठ से दस लोग टीका ले रहे है़ ग्रामीण क्षेत्र में तो टीकाकरण को लेकर निरुत्साह देखने मिल रहा है़ समय रहते पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की आपूर्ति न होने के यह स्थिति पैदा हो गई है़ जिले की कुल जनसंख्या 13 लाख 91 हजार 890 दर्ज की गई़ इसकी तूलना में अब तक केवल 54 हजार 876 नागरिकों के ही दोनो डोज पुर्ण हुए है़.

    परिणामवश जिले का प्रतिशत केवल 3.94 फीसदी दर्ज हुआ है़ कुल जनसंख्या की तूलना में केवल 2 लाख 16 हजार 702 ने पहला टीका लिया है, जबकि 11 लाख 75 हजार 188 लोग इससे वंचित है़ दूसरी ओर 58 हजार 874 ने दूसरा टीका पुर्ण कि, जबकि 13 लाख 37 हजार 014 लोग दूसरें टीके से वंचित है़ जिले में केवल 45 प्लस का टीकाकरण शुरु है़ 18 प्लस के टीकाकरण को पुर्णत: ब्रेक लगने से पालक व युवा वर्ग में निराशा छायी हुई है़ कब वैक्सीन की आपूर्ति होंगी व कब टीका लगेगा, यह प्रश्न नागरिक उपस्थित कर रहे है़ 

    1 जून से दूसरें डोज पर जोर

    स्वास्थ्य प्रशासन के अनुसार दूसरें डोज के लिए नागरिकों को भटकना न पडे इस लिए 1 जून से दूसरें डोज को प्राथमिकता दी जाएगी़ इसके लिए तहसीलस्तर पर उचित नियोजन आंका जाएंगा़ 

    स्वास्थ्य प्रशासन मजबूर

    वरिष्ठ स्तर से वैक्सीन की आपूर्ति न होने के कारण स्थानीय स्वास्थ्य यंत्रणा भी मजबूर दिखाई दें रही है़ स्वास्थ्य विभाग की माने तो तहसील व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर टीकाकरण की व्यवस्था है़ परंतु वैक्सीन की कमी के कारण वें कुछ नहीं कर पा रहे है़ 

    नहीं मिल रहा दूसरा डोज

    जिले में सर्वाधिक समस्या दूसरा डोज लेनेवालो की बनी हुई है़ जिन लोगों ने को वैक्सीन का पहला डोज लिया है, उनके दूसरे डोज का अवधि पुर्ण हो चुका है़ परंतु स्थिति यह है कि, जिले में को वैक्सीन के डोज ही उपलब्ध न होने के कारण सभी केंद्र बंद पडे है़ इसमें वर्धा के भी चारो केंद्रों का समावेश है़ 

    मंगलवार को 1267 ने लिया टीका

    उल्लेखनिय है कि, मंगलवार को 45 केंद्र शुरु है़ जहां कोविशिल्ड का टीका दिया गया़ दिनभरे में 1267 ने पहला टीका लिया़ वहीं पुरे जिले में केवल 16 लोगों नें ही दूसरा टीका लेने की जानकारी स्वास्थ्य प्रशासन की रिपोर्ट में है़ इसमें 1 स्वास्थ्यकर्मी, 7 फ्रन्टलाईन वर्कर, 45 प्लस के 7 व 60 प्लस के 1 नागरिक का समावेश है़ 

    वैक्सीन की आपूर्ति जरुरी

    जिले में टीकाकरण मुहिम प्रभावित हो गई है़ समय समय पर वैक्सीन की आपूर्ति जरुरी है़ वायगांव में को वैक्सीन का केंद्र शुरु किया गया था़ चार पांच दिनों में केवल 600 के करीब नागरिकों का टीकाकरण हुआ़ परंतु अब वैक्सीन के अभाव से केंद्र बंद है़ पहला टीका पुर्ण करनेवाले नागरिक अब दूसरें टीके के लिए भटक रहे है़ जिले के लिए वैक्सीन की आपूर्ति अत्यंत जरुरी है़