नि:शुल्क प्रवेश की 370 सीटें रिक्त रहने की संभावना

वाशिम. आरटीई (राईट टू एज्युकेशन) अंतर्गत इस बार 976 में से 606 बच्चों के प्रवेश होकर अभी विहित अवधि की लाटरी से चयनित व पहले प्रतीक्षा सूची के 370 पालक आवश्यक दस्तावेज संबंधित शालाओं में प्रस्तुत नही कर सके़  जिससे दूसरी प्रतीक्षा सूचि अभी तक घोषित न होने से इस वर्ष 370 सीटें रिक्त रहने की संभावना बताई जा रही है़.

आरटीई अंतर्गत आर्थिक दृष्टि से दुर्बल, पिछड़ावर्गीय, विकलांग प्रवर्ग के पात्र बालकों को अंग्रेजी माध्यम के निजी शालाओं में पहली कक्षा में कुल प्रवेशित संख्या में से 25 प्रतिशत नि:शुल्क प्रवेश दिए जाते है़  इस वर्ष मार्च महीने में पुणे में पहली लाटरी निकाली गई़  इस में जिले के 976 बालकों का चयन हुआ़  आरटीई अंतर्गत जिले में 101 शालाओं की पंजीयन होकर 1,911 सीटों के नि:शुल्क प्रवेश के लिए आरक्षित है़  पहली लाटरी पध्दति से चयनित बालकों को प्रवेश लेने के लिए बार बार अवधि बढ़ाकर दी गई़.

इसके बाद पहली प्रतीक्षा सूचि के बालकों को प्रवेश लेने के लिए नवंबर के पहले सप्ताह तक अवधि दी गई थी़  इस विहित अवधि में 370 बालकों के पालक आवश्यक दस्तावेज प्रस्तुत नही कर सके़  जिले के 976 में से 606 बालकों ने प्रवेश लिए है़  दूसरी प्रतीक्षा सूचि घोषित होगी अथवा नही इस के संबंध में संदेह व्यक्त किया जा रहा है़ दूसरी प्रतीक्षा सूचि घोषित नही हुई तो इस बार नि:शुल्क प्रवेश की 370 सीटें रिक्त रहने की संभावना व्यक्त की जा रही है़.