नाट्यगृह व टेम्पल गार्डन अनियमितता प्रकरण में विधायक मलिक आक्रामक

    वाशिम. शहर के विकास का चेहरा बदलनेवाले दो महत्वाकांक्षी प्रकल्प के नूतन नाट्यगृह व टेम्पल गार्डन का काम अभी तक पूर्ण नही हुआ है. इस पर करोड़ों रुपयों की निधि खर्च हुई है़  दोनों प्रकल्प में भारी प्रमाण में अनियमितता होने से काम निकृष्ट दर्जे का हो रहा है़  यह आरोप करते हुए इस प्रकरण में विधायक लखन मलिक ने आक्रामक भूमिका लेकर इस कामों की जांच करके नप के मुख्याधिकारी व संबंधित अभियंता पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग पालकमंत्री शंभूराज देसाई की ओर एक पत्र व्दारा की है़  

    पत्र में आज तक इस नाट्यगृह का काम पूरा नही हुआ़  मुख्याधिकारी ने दी जानकारी के अनुसार यह काम 85 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है़  इस पर 52.42 प्रतिशत निधि खर्च हुआ है. यह काम अपूर्ण व निकृष्ट दर्जे का हो रहा है़  टेम्पल गार्डन का काम भी आज तक पूर्ण नही हुआ है. जबकि इस काम पर 80 प्रतिशत निधि खर्च होने की जानकारी मुख्याधिकारी ने दी है.

    ये दोनों काम अभी तक पूर्ण न होकर काम निकृष्ट दर्जे की हुई है़  सरकार ने दी निधि का नागरिकों के हितो के लिए उपयोग नही होकर दुरुपयोग ही हुआ है़  इसलिए नगर परिषद के कामों के प्रति नागरिकों में असंतोष व्याप्त हो रहा है. जिससे नाटयगृह व टेम्पल गार्डन के निकृष्ट निर्माण कार्य प्रकरण में अनियमितता करनेवाले मुख्याधिकारी व संबंधित इंजिनीयर की जांच करके उन पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग विधायक लखन मलिक ने पत्र में की है.