पौधारोपण का लक्ष्य पूर्ण करने योग्य नियोजन करें वृक्षारोपण का लक्ष्य पुर्ण करने के लिए योग्य

वाशिम. राज्य शासन व्दारा चलाए जा रहे 33 करोड़ पौधारोपण मुहिम अंर्तगत वाशिम जिले में करीब 43 लाख पौधारोपण का लक्ष्य दिया गया है़ यह पौधारोपण का लक्ष्य साध्य करने के लिए सभी संबधित शासकीय विभागों ने

वाशिम. राज्य शासन व्दारा चलाए जा रहे 33 करोड़ पौधारोपण मुहिम अंर्तगत वाशिम जिले में करीब 43 लाख पौधारोपण का लक्ष्य दिया गया है़ यह पौधारोपण का लक्ष्य साध्य करने के लिए सभी संबधित शासकीय विभागों ने योग्य व परिपूर्ण नियोजन कर उसके अनुसार अमल करने की सूचना विभागीय आयुक्त पीयुष सिंह ने दिए है़ं वे जिलाधिकारी कार्यालय में आयोजित पौधारोपण मुहिम बाबत का जायजा बैठक में बोल रहे थे़

खोदे गए गड्ढों की जानकारी अपलोड करना जरूरी
विभागीय आयुक्त ने कहा कि, पौधारोपण मुहिम अंर्तगत प्रत्येक विभाग को दिए गए पौधारोपण लक्ष्य साध्य करने के लिए आवश्यक जमीन की जानकारी व प्रत्यक्षता में खुदाई किए गए गड्ढों की जानकारी अपलोड करना आवश्यक है़ सभी शासकीय विभागों ने इस कार्यक्रम को गतिमान करे़ जिन शासकीय विभाग की ओर पौधारोपण के लिए जमीन उपलब्ध नहीं है़ ऐसे विभागों ने शहरी अथवा ग्रामीण भागों के शासकीय जमीन पर पौधारोपण करना चाहीए़ इस जमीन की जानकारी जिलाधिकारी कार्यालय मार्फत उपलब्ध करानी चाहीए़ जिले में नए से निर्माण हो रहे मार्ग के दोनों किनारो पर पौधारोपण करने का नियोजन संबंधित विभागों ने करे़ व उसी प्रकार से जिले लघु सिंचन विभाग के सभी मध्यम व लघु प्रकल्पों के परिसर में भी पौधारोपण करने की सूचना आयुक्त ने दिए है़

इस अवसर पर जिलाधिकारी ऋषिकेश मोडक, जि़ प के मुख्यकार्यकारी अधिकारी दीपककुमार मीणा, अप्पर जिलाधिकारी दिनेशचंद्र वानखडे, उपवनसंरक्षक सुंमत सोंलकी, निवासी उपजिलाधिकारी शैलेश हिंगे, उपजिलाधिकारी रमेश काले, जिलाआपूर्ति अधिकारी देवराव वानखेडे, जिला अधक्षिक कृषि अधिकारी गावसाने, समाजिक वनीकरण विभाग के सहायक वनसंरक्षक उत्तम फड आदि उपस्थित थे़

विविध शासकीय विभागों को दिए गए पौधारोपण का लक्ष्य व उसके अनुसार संबंधित विभागों ने की पूर्व तैयारी इस बाबत का जायजा विभागीय आयुक्त ने लिया़ जिला उपनिबंधक रमेश कटके, जिला कृषि विकास अधिकारी शेलके, जिला क्रीड़ा अधिकारी प्रदीप शेटीय, लघु सिंचन विभाग के कार्यकारी अभियंता चौधरी, ग्रामीण जलआपूर्ति विभाग के कार्यकारी अभियंता निलेश राठोड, शिक्षण अधिकारी प्राथ़ अंबादास मानकर, जिला कौशल्य विकास व मार्गदर्शन केंद्र की सहा़ संचालक सुनंदा बजाज, प्रभारी प्रशासन अधिकारी तथा तहसीलदार शीतल वाणी समेत विविध विभागों के अधिकारी उपस्थित थे़