‘मध्यस्थी’से शीघ्र हल होंगे प्रकरण

वाशिम. न्यायालय में गुणवत्ता पर प्रकरण चलाकर फैसला होने में अनेक वर्ष निकल जाते है़ मात्र समझौता के माध्यम से ऐसे मामलो का निपटारा शीघ्र हो सकता है़ इसलिए ‘मध्यस्थी’ का महत्व अवगत कराने

वाशिम. न्यायालय में गुणवत्ता पर प्रकरण चलाकर फैसला होने में अनेक वर्ष निकल जाते है़ मात्र समझौता के माध्यम से ऐसे मामलो का निपटारा शीघ्र हो सकता है़ इसलिए ‘मध्यस्थी’ का महत्व अवगत कराने के लिए वाशिम विधि सेवा प्राधिकरण व्दारा विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. प्रत्येक लोक अदालत के पूर्व समझौता शिविर के व्दारा समझौता कराने के लिए प्रयास किया जाता है़ इस मध्यस्थी का उपक्रम देशभर में बड़े प्रमाण में उपयुक्त साबित हुआ है़ व्यवसायिक प्रकरण, आर्थिक विवाद, भूसंपादन व मोटर दुर्घटना भरपाई आदि प्रकरणों में समझौता सफल भी होता है़ ऐसा सर्वोच्च न्यायालय ने निर्देशित किया है़.

इसी प्रकार से वैवाहिक प्रकरणों में जहा पर गुजारा भत्ता व बच्चों का कब्जा यह मुख्य मुद्दे रहते है़ वहां पर समझौता ही अत्यंत समाधान कारक रहता है़ ऐसे प्रकरणों में तारीख पर उपस्थित रहने वाले पक्षकारों के बच्चों के लिए मनोरंजन हेतु पुस्तकें उपलब्ध किे गए है़ं मध्यस्थी सेशन में नियुक्त विधि स्वंयसेवक अपनेपन से बात कर सकते है़ प्रशिक्षित मध्यस्थ वकील बहुमुल्य समय देते है़ं.

इन सभी सुविधा का मध्यस्थी उपक्रम का लाभ अधिक से अधिक पक्षकारों से लेने का आवाहन किया गया है़ इस बाबत प्रत्येक महिने को जायजा बैठक का आयोजित की जाती है़ पक्षकारों ने अपनी दाखिल पूर्व प्रकरण व प्रलंबित प्रकरण प्राधिकरण की ओर समझोता के लिए देना चाहिए़ पक्षकारो को जिला न्यायालय के हाल क्रमांक 5 में 13 जुलाई को लोक अदालत में अधिक से अधिक प्रकरण निर्णायित करने के लिए प्रयास करने का आवाहन वाशिम जिला विधि सेवा प्राधिकरण ने किया है़