2 रिश्वतखोर अधिकारी रंगेहाथों गिरफ्तार

वाशिम. मत्स व्यवसाय के लिए नायलान जाली का अनुदान देयक निकालने के लिए 6,000 रुपये रिश्वत की मांग कर समझौता के बाद 5,500 रुपयों की रिश्वत स्वीकार ने वाले दो रिश्वतखोर मत्स व्यवसाय विकास अधिकारी को

वाशिम. मत्स व्यवसाय के लिए नायलान जाली का अनुदान देयक निकालने के लिए 6,000 रुपये रिश्वत की मांग कर समझौता के बाद 5,500 रुपयों की रिश्वत स्वीकार ने वाले दो रिश्वतखोर मत्स व्यवसाय विकास अधिकारी को एसीबी विभाग के दल ने मंगलवार की रात रंगेहाथ पकड़ा. प्रकरण में शिकायत कर्ता मत्स व्यवसाय सरकारी संस्था के अध्यक्ष हैं. उनके संस्था अंर्तगत 15 सभा सदस्यों को नायलोन जाली का वितरण किया गया था़ इसके लिए शासन व्दारा 50 प्रतिशत अनुदान मिला है़ इस नायलोन जाली का अनुदान भुगतान का धनादेश देने के लिए सहाय्यक आयुक्त मत्स व्यवसाय तांत्रिक कार्यालय वाशिम के मत्स व्यवसाय विकास अधिकारी वर्ग 2 सुभाष नागोराव सुखदेवे व सहाय्यक मत्स व्यवसाय विकास अधिकारी वर्ग 3 दिनेश रामभाऊ खोपे ने शिकायतकर्ता से 6,000 रुपयों की रिश्वत मांगी़

5,500 रु लेते पकड़ाए
इस बाबत शिकायतकर्ता ने 2 मई को रिश्वत प्रतिबंधक विभाग वाशिम की ओर अपनी शिकायत दायर की़ शिकायत की पड़ताल करने के बाद सुभाष सुखदेवे व दिनेश खोपे ने शिकायतकर्ता से 5,500 रुपयों की नगद राशि साहय्यक आयुक्त मत्स व्यवसाय कार्यालय वाशिम में स्वीकार की़ प्रकरण में सुभाष सुखदेवे व दिनेश खोपे इन पर कार्रवाई की गई़ यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक श्रीकांत घिवरे, अप्पर पुलिस अधक्षिक पंजाबराव डोंगरदिवे, पुलिस उपअधीक्षक शंकर शेलके के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक निवृत्ति बोर्‍हाडे, अमोल इंगोले, पु़ हवा़ नितीन, दिलीप बेलोकर, विनोद अवगडे, अरविंद राठोड ने की है़