एक-दूसरे के धर्म का सम्मान करें

वाशिम. अमरावती परिक्षेत्र के विशेष पुलिस महानिरीक्षक मकरंद रानडे ने कहा कि सामाजिक सामंजस्य कायम रखना हो तो सभी धर्मियों ने एक-दूसरे के धर्म का सम्मान करना चाहिए़ वाशिम जिला पुलिस दल की ओर से

वाशिम. अमरावती परिक्षेत्र के विशेष पुलिस महानिरीक्षक मकरंद रानडे ने कहा कि सामाजिक सामंजस्य कायम रखना हो तो सभी धर्मियों ने एक-दूसरे के धर्म का सम्मान करना चाहिए़ वाशिम जिला पुलिस दल की ओर से स्थानीय वाटाणे लॉन में ईद मिलन का कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस अवसर पर वे बोल रहे थे़ कार्यक्रम में जिलाधिकारी ऋषिकेश मोडक, जिला परिषद के मुख्यकार्यकारी अधिकारी दीपककुमार मीना, पुलिस अधक्षिक वसंत परदेशी, अप्पर पुलिस अधीक्षक विजयकुमार चव्हाण आदि प्रमुखता मे उपस्थित थे़

आपसी समन्वय जरूरी

रानडे ने बताया कि कुछ वर्षों के पूर्व यहां पर हुए अप्रिय घटना से वाशिम जिला संवेदनशील जिला समझा जाता है़ लेकिन अभी जिले में सामाजिक सामंजस्य अच्छा है़ आगामी समय में होने वाले गणेशोत्सव, मोहर्रम, दुर्गा उत्सव व विधानसभा चुनाव में जिले में कानून व्यवस्था व जातीय सामंजस्य कायम रखने के लिए सभी जाति धर्म के प्रतिष्ठित लोगों ने पहल करना चाहिए व पुलिस विभाग को सहयोग करें. ईद मिलन जैसे इस कार्यक्रम से यहां पर सर्वधर्मीय मान्यवर एकत्रित आने से सामाजिक सामंजस्य बढ़ने के लिए मदद होगी़ जिससे दीपावली के त्योहारों में भी सर्वधर्मियों को एकत्र लाने के लिए ऐसे ही कार्यक्रम का आयोजन करना चाहिए़

जिलाधिकारी ऋषिकेश मोडक ने बताया कि ईद मिलन कार्यक्रम से जिले के जातीय सामंजस्यता कायम रहती है़ जिले में इसी प्रकार का ही वातावरण रहना इसलिए सभीधर्मीय नागरिकों ने सहयोग करें. जिला पुलिस अधीक्षक ने कहा कि भारत यह विविधता का देश है. देश में रहने वाले प्रत्येकों का धर्म शांति का संदेश देने वाला धर्म है़ हिंसाचार, असमानता को किसी भी धर्म में कोई स्थान नहीं है जिससे प्रत्येक व्यक्ति ने अपने धर्म का पालन करने पर देश में सामाजिक सामंजस्य रहेगा़ इस अवसर पर प्रा़ जिया अहमद खान ,प्रा़ अबरार मिर्जा, मौलाना अन्सार आदि ने इस्लाम व कुरान बाबत मार्गदर्शन किया़ कार्यक्रम में पुलिस अधिकारी, कर्मचारी, शांतता समिति, मोहल्ला समिति सदस्य, विविध जाति ,धर्म के गणमान्य उपस्थित थे़ संचालन शमीम फरहत एवं आभार अप्पर पुलिस अधक्षिक चव्हाण ने माना.