जिला सामान्य रुग्णालय में दवाइयों का अभाव

वाशिम. यहां के शासकीय जिला सामान्य रुग्णालय में मधुमेही मरीजों के लिए उपयुक्त शुगर स्ट्रिप्स विगत चार महीने से नहीं होने के कारण मधुमेही मरीज परेशान हो गए है़ं इसी प्रकार से बीपी के लिए आवश्यक

वाशिम. यहां के शासकीय जिला सामान्य रुग्णालय में मधुमेही मरीजों के लिए उपयुक्त शुगर स्ट्रिप्स विगत चार महीने से नहीं होने के कारण मधुमेही मरीज परेशान हो गए है़ं इसी प्रकार से बीपी के लिए आवश्यक एम्लोडिपीन नामक गोलियां भी शुक्रवार को चिकित्सालय में उपलब्ध नहीं हो पाई. डाक्टर व्दारा इस गोली को बाजार से खरीदने की सलाह दी जा रही है.

4 महीने से नहीं है शुगर स्ट्रिप्स
सरकार ने नागरिकों की सुविधा के लिए रक्त में शुगर का प्रमाण जांचने के लिए जिला सामान्य अस्पताल के साथ ही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में ग्लुको स्ट्रिप्स उपलब्ध करवाई है़ लेकिन यहां जिला मुख्यालय होने के बाद भी जिला सामान्य रुग्णालय में गत चार महीने से शुगर स्ट्रिप्स उपलब्ध नहीं होने से मधुमेयी मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

बाहर गांव से आने वाले रोगियों को परेशानी
हालांकि इसी अस्पताल के अन्य कक्ष में रक्त की जांच होती है़ लेकिन इसकी रिपोर्ट दूसरे दिन मिलने से मरीजों को फिर अस्पताल आना पड़ता है़ जिससे बाहरगांव से आनेवाले मरीजों को समय व पैसे का नुकसान हो रहा है़ खास कर इमरजेन्सी वाले अनेक मरीजों को मजबूरन निजी पैथालाजी में शुगर जांच करनी पड़ रही है़ जनप्रतिनिधियों के साथ ही संबंधित प्रशासकीय अधिकारियों ने इस ओर ध्यान देने की मांग नागरिकों ने की है.

शुगर,ब्लडप्रेशर के बढ़ रहे मरीज
सूत्रों की मानें तो शुगर स्ट्रिप्स का स्टाक अपैल महीने से ही समाप्त हो गया था़ जिससे अनेक डायबीटीज मरीजों को निजी पैथालाजी में जाकर शुगर की जांच करना पड़ रहा है. शहर एंव ग्रामीण क्षेत्रों में मधुमेह मरीजों के साथ ही ब्लड प्रेशर की मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. जिला अस्पताल में आनेवाले ग्रामीण भागों के सैकड़ों मधुमेही मरीजों को शुगर स्ट्रिप्स के अभाव से बिना जांच ही दवाई लेनी पड़ रही है. स्वास्थ् विभाग व्दारा शुगर स्ट्रिप्स व ब्लड प्रेशर के लिए आवश्यक एम्लोडिपीन गोलियां उपलब्ध नहीं कराए जाने से लोगों ने नाराजगी व्यक्त करते हुए प्रशासकीय अधिकारियों से इसे तुरंत उपलब्ध कराने की मांग जरुरतमंद मरीजों ने की है.