After the death of George Floyd in police custody in the US, his family agreed to a settlement for $ 27.7 million

    मिनीयापोलिस (अमेरिका): पुलिस हिरासत (Police Custody) में अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की मौत (Death) के मामले में परिवार द्वारा दायर दीवानी मुकदमे को निपटाने के लिए मिनीयापोलिस नगर प्रशासन, फ्लॉयड परिवार को 2.7 करोड़ डॉलर (करीब 196 करोड़ रुपये) देने पर सहमत हो गया है। यह समझौता ऐसे समय हुआ है जब हत्या के आरोपी पुलिस अधिकारी के खिलाफ मुकदमे की सुनवाई के लिए ज्यूरी के चुनाव की प्रक्रिया चल रही है। परिषद के सदस्यों ने समझौते पर चर्चा के लिए निजी तौर पर परिवार से मुलाकात की और इसके बाद सार्वजनिक बैठक कर इस भारी-भरकम राशि के भुगतान पर मुहर लगाई। यह राशि दो साल पहले एक श्वेत महिला की पुलिस द्वारा की गई हत्या के मामले में भुगतान की गई दो करोड़ डॉलर की राशि से अधिक है।

    फ्लॉयड परिवार के वकील बेन क्रम्प ने इसे दीवानी मुकदमे में सबसे बड़ा समझौता करार दिया और शहर के नेताओं को जॉर्ज फ्लॉयड के प्रति संवेदनशीलता दिखाने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। क्रम्प ने कहा, ‘‘न्याय की यात्रा लंबी होने वाली है। न्याय की यात्रा में यह पहला कदम है। यह समझौता बताता है कि जॉर्ज फ्लॉयड उससे बेहतर के हकदार थे जो 25 मई 2020 (हत्या) को हुआ।”

    उल्लेखनीय है कि फ्लॉयड की हत्या के बाद ‘जॉर्ज फ्लॉयड की जिंदगी मायने रखती है’ के नाम से प्रदर्शन हुए और ‘अश्वेत की जिंदगी मायने रखती है’ के नाम से इसके खिलाफ दुनिया भर में प्रदर्शन हुए। फ्लॉयड के भाई फिलोनोइस फ्लॉयड ने कहा, ‘‘ मेरा भाई नहीं है लेकिन वह मेरे दिल में है। अगर वह मुझे वापस मिलता है तो मैं इसे (राशि) लौटा दूंगा।”