Australia postpones extradition treaty with Hong Kong, offers 10,000 visas for students, skilled workers

मेलबर्न: ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने बृहस्पतिवार को विवादित चीनी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर हांगकांग के साथ देश की प्रत्यर्पण संधि को स्थगित करने की घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने पूर्व ब्रिटिश क्षेत्र के 10,000 छात्रों और अस्थायी कुशल श्रमिकों के लिए वीजा की पेशकश की, ताकि वे यहां नया जीवन शुरू सकें। पूर्व ब्रिटिश क्षेत्र हांगकांग में नया कानून थोपे जाने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने यह कदम उठाया है।

मॉरिसन ने कहा कि चीन द्वारा हांगकांग में थोपा गया नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून दुनियाभर की कई सरकारों के लिए “परिस्थितियों में मूलभूत परिवर्तन” को दर्शाता है। उन्होंने कैनबरा में कहा, ‘‘हांगकांग के साथ प्रत्यर्पण समझौते को स्थगित करने का हमारा निर्णय नए सुरक्षा कानून की वजह से हांगकांग के संबंध में परिस्थितियों के मूलभूत परिवर्तन की स्वीकारोक्ति को दर्शाता है। हमारे विचार में नया कानून ‘एक देश, दो व्यवस्था’ की रूपरेखा और हांगकांग के अपने बुनियादी कानून और चीन-ब्रिटिश संयुक्त घोषणा में प्रदत्त उच्च स्वायत्तता की अनदेखी करता है।”

उन्होंने कहा कि आव्रजन ऑस्ट्रेलिया की शक्ति का एक स्तंभ रहा है और यह दुनियाभर के ऐसे लोगों के लिए स्वागत करने वाला देश रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया सरकार हांगकांग स्थित कारोबार को यहां स्थापित करने का स्वागत करेगी।(एजेंसी)