न्यूयॉर्क में भारतीय महावाणिज्य दूतावास ने योग दिवस पर आयोजित किया ऑनलाइन कार्यक्रम

न्यूयॉर्क. अमेरिका के एक शीर्ष सांसद ने कहा कि दुनियाभर में कोरोना वायरस महामारी के कारण बढ़ते तनाव, अनिश्चितता और बेरोजगारी से परेशान लोगों के शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रहने में योग एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। भारतीय महावाणिज्य दूतावास द्वारा रविवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर ऑनलाइन आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में ओहियो के सासंद टिम रेयान ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी ने बड़े पैमाने पर बेरोजगारी को जन्म दिया है, जिसके कारण उन लोगों के लिए अनिश्चितता बढ़ गई है जो पहले से ही अमेरिका में आय की असमानता और मंदी के बाद से अमीर और गरीब के बीच बनी खाई से जूझ रहे थे।

रेयान ने कहा कि आज जब लोग मानसिक स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों, तनाव, और चिंता का सामना कर रहे हैं तब योग में मानसिक एवं शारीरिक स्थिति बेहतर करने की क्षमता है। रविवार 21 जून को दुनिया भर में छठा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास द्वारा आयोजित इस ऑनलाइन कार्यक्रम का नाम ‘घर घर से योगा – योगा एट होम’ था। भारत के महावाणिज्यदूत संदीप चक्रवर्ती ने कहा कि योग की उत्पत्ति भारत में हुई लेकिन अमेरिका इसका दूसरा घर बन गया है क्योंकि 3.6 करोड़ अमेरिकी नियमित रूप से योगाभ्यास कर रहे हैं। भारत के उप महावाणिज्यदूत शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि योग दिवस 2015 से अमेरिका में भारतीय समुदाय के सदस्यों के साथ प्रमुखता से मनाया गया है और इस वर्ष इसकी थीम ‘योगा एट होम, योगा विद फैमिली’ है।(एजेंसी)