biden

वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) ने बुधवार को राष्ट्रपति (President Of America) पद की शपथ लेने के बाद अमेरिका के साझेदारों के साथ संबंधों को दुरुस्त करने और दुनिया के साथ एक बार फिर साझेदारी बढ़ाने का वादा किया। देश के 46वें राष्ट्रपति के रूप में अपने पहले भाषण में उन्होंने कहा कि देश ने परीक्षा की घड़ी पार की है और मजबूत बनकर उभरा है। डेमोक्रेटिक पार्टी के 78 वर्षीय अनुभवी नेता ने अपने भाषण में कहा, ‘‘हम शांति, प्रगति और सुरक्षा के क्षेत्र में मजबूत और विश्वस्त साझेदार होंगे।”

जैसा कि सभी को उम्मीद थी कि राष्ट्रपति जो बाइडेन सत्ता संभालते ही पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कई बडे अहम् फैसलों को पलट देंगे, और अब बिल्कुल वैसा ही हुआ है।  राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के बाद जो बाइडेन ने सीधे ओवल ऑफिस में अपना कामकाज संभाला और त्वरित एक्शन में आ गए। 

क्या अहम् फैसले लिए जो राष्ट्रपति बाइडेन ने:

  • कोरोना महामारी को कंट्रोल करने के लिए फैसला।  
  • आम लोगों को बड़े स्तर पर आर्थिक मदद देने का किया ऐलान।  
  • क्लाइमेट चेंज के मसले पर अमेरिका की फिर वापसी।  
  • नस्लभेद को खत्म करने की ओर अहम् कदम।  
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन से हटने के फैसले को फिलहाल रोका।  
  • बॉर्डर पर दीवार बनाने के फैसले को रोका, फंडिंग भी अब रोक दी गयी।  
  • ट्रंप प्रशासन द्वारा जिन मुस्लिम देशों में बैन लगाया था, उसे फिर वापस लिया।  
  • स्टूडेंट लोन की किस्त वापसी को सितंबर तक फिलहाल टाला गया है। 

गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने लंबे वक्त तक क्लाइमेट चेंज के मसले से मुंह फेरा।  अमेरिका ने पेरिस एग्रीमेंट से अपना नाम भी वापस ले लिया था।  इसके साथ ही ट्रंप प्रशासन ने कोरोना संकट के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन से अपना नाता तोड़ लिया था, जिसके कारण उनकी काफी आलोचना हुई थी।  वहीं सत्ता सम्हालते ही राष्ट्रपति जो बाइडेन इन दोनों ही बड़े फैसलों को बदल दिया है।  वहीं अमेरिका की विदेश नीति में भी अब सहायद कुछ बदलाव होंगे। 

इसीके की तरफ कदम बढ़ाते हुए इजरायल में मौजूद अमेरिकी दूतावास ने अपने ट्विटर हैंडल के नाम को अब बदल दिया है।  पहले ट्रम्प प्रशासन के दौरान ट्विटर हैंडल पर नाम था ‘इजरायल में अमेरिकी राजदूत’, जिसे अब बदलकर कर ‘इजरायल, गाजा और वेस्ट बैंक में अमेरिकी राजदूत’किया गया है ।  इससे साफ होता है कि ट्रंप प्रशासन ने पहले इन्हें इजरायली स्थान की तरह मान्यता दी थी, लेकिन अब राजा बदला है तो अब अंजाम भी बदलता सा दिख रहा है। 

बता दें की राष्ट्रपति बाइडन ने अनुभवी राजनयिक डैनियल स्मिथ को अपनी सरकार में कार्यवाहक विदेश मंत्री पद के लिए चुना है। बाइडन एंथनी ब्लिंकन को विदेशी मंत्री का पद सौपना चाहते हैं और उन्हें इसके लिए सीनेट से मंजूरी का इंतजार है। गौरतलब है कि जो बाइडेन ने बीते दिन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ले ली है और साथ में भारतीय मूल की कमला हैरिस (Kamla Harris) उनके साथ उपराष्ट्रपति बनी हैं।