Pakistan Supreme Court issues notice to Imran Khan regarding use of public funds

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने कहा है कि उनकी सरकार यौन उत्पीड़न (Sexual Harassment) के मामलों के पंजीकरण, बलात्कार (Rape) एवं बाल शोषण (Child Abuse) के लिए कड़ी सजा देने और प्रभावी पुलिस कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए तीन चरणीय विधेयक जल्द पेश करेगी।

खान ने बुधवार को वित्तीय कार्रवाई कार्य बल संबंधी कई विधेयक पारित होने के बाद संसद के दोनों सदनों के एक संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए यह घोषणा की। ‘द डॉन’ समाचार पत्र ने उनके हवाले से कहा, ‘‘इस प्रकार की घटनाएं पीड़ितों का जीवन तबाह कर देती हैं और उनके परिवारों को भी कष्ट झेलना पड़ता है।”

खान ने नौ सितंबर को लाहौर (Lahore) में एक राजमार्ग के निकट फ्रांसीसी-पाकिस्तानी (French-Pakistani) महिला का उसके तीन बच्चों के सामने सामूहिक बलात्कार किए जाने की घटना का जिक्र करते हुए यह बात की। इस घटना का देश में व्यापक विरोध हुआ था। मामले के एक आरोपी को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया और उसने अपराध स्वीकार कर लिया है।

खान ने इस बात का जिक्र किया कि सामूहिक बलात्कार मामले का मुख्य आरोपी आदतन अपराधी है। उन्होंने कहा कि वैश्विक आंकड़े दर्शाते हैं कि इस प्रकार के अपराध करने वाले लोग आदतन अपराधी होते हैं और उनसे जुड़ी जानकारी का डेटा तैयार करना महत्वपूर्ण है। खान ने कहा कि तैयार किए जा रहे विधेयक में बलात्कार एवं बाल शोषण करने वाले लोगों को केवल कड़ी सजा देने का प्रावधान ही नहीं होगा, बल्कि इसमें यौन शोषण करने वालों के पंजीकरण और प्रभावी पुलिस कार्रवाई का भी प्रावधान होगा।