Pressure on Boris Johnson for temporary complete lockdown

लंदन: ब्रिटेन (Britain) के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) को देश में कोविड-19 (Covid-19) के मामले लगातार बढ़ने को लेकर ‘सर्किट ब्रेकर’ के रूप में अस्थायी पूर्ण राष्ट्रीय लॉकडाउन (Lockdown) लागू करने के लिये बुधवार को बढ़ते दबाव का सामना करना पड़ा। वहीं, समूचे इंग्लैंड में तीन स्तरों वाली कोविड-19 पाबंदियां लागू कर दी गई हैं।

नयी मध्यम, अधिक और अत्यधिक स्तर वाली चेतावनी प्रणाली को मंगलवार को हाऊस ऑफ कॉमंस (House of Commons) से मंजूरी मिली और यह बुधवार से लागू हो गई। हालांकि, पब, बार, रेस्तरां और अन्य आतिथ्य सत्कार प्रतिष्ठानों में रात 10 बजे के बाद के कर्फ्यू लगाये जाने के खिलाफ अपने वोट के साथ जॉनसन की खुद की कंजरवेटिव पार्टी के 40 से अधिक सांसदों ने विरोध किया।

वहीं, दूसरी ओर विपक्षी लेबर पार्टी के नेता केर स्टार्मर ने दो-तीन हफ्ते के संक्षिप्त ‘सर्किट ब्रेकर’ (अस्थायी) लॉकडाउन की मांग की। साथ ही, उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि उसने महामारी पर नियंत्रण खो दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार की योजना काम नहीं कर रही है-अन्य रणनीति की जरूरत है।” विपक्ष ने देश में अस्थायी अवधि के लिये कुछ स्पष्ट एवं प्रभावी पाबंदियों की मांग की है।

हालांकि, उत्तरी आयरलैंड ने वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिये सोमवार से स्कूलों को बंद करने सहित बंद के कठोरतम उपायों का सहारा लिया है। उत्तरी आयरलैंड के प्रथम मंत्री आर्लेन फोस्टर ने कहा, ‘‘इन फैसलों में कई का बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ेगा-हम इस बात को लेकर बहुत प्रतिबद्ध हैं कि ये कुछ समय के लिये ही हों।”

इस बीच, स्कॉटलैंड , जहां कठोर पाबंदियां लागू हैं, और वेल्स ने चेतावनी दी है कि उनके खुद के ‘सर्किट ब्रेकर’ लॉकडाउन की तैयारियां जारी हैं। वेल्स के प्रथम मंत्री मार्क ड्रेकफोउर ने जॉनसन से कैबिनेट कमेटी ब्रीफिंग रूम ए (कोबरा) की एक आपात बैठक बुलाने का आग्रह किया है, ताकि ब्रिटेन में शामिल चारों देश (इंग्लैंड, उत्तरी आयरलैंड, स्कॉटलैंड और वेल्स) अपने स्तर पर लॉकडाउन लागू करने करने में सक्षम हों और राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा कर सकें।

ब्रिटेन में इस हफ्ते कोविड-19 के 17,234 मामले और सामने आये हैं, जबकि 143 और मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही इस महामारी से ब्रिटेन में मरने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़ कर 43,000 हो गई है।