These countries had tried to interfere in the US elections, intelligence report says- Putin had approved the campaign to help Trump

    वाशिंगटन: रूस (Russia) के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने अमेरिका (America) में गत नवंबर में हुए राष्ट्रपति पद के चुनाव में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की मदद करने के अभियानों (Campaign) को मंजूरी दी थी। एक खुफिया रिपोर्ट में यह बताया गया है कि रूस और ईरान (Iran) ने चुनाव नतीजों (Election Results) को प्रभावित करने की व्यापक कोशिशें की थीं, लेकिन ऐसा कोई सबूत नहीं मिला कि किसी विदेशी दखल से मतों या मतदान प्रक्रिया पर कोई असर पड़ा हो।

    राष्ट्रीय खुफिया कार्यालय के निदेशक के कार्यालय से मंगलवार को जारी रिपोर्ट में अमेरिका में 2020 में हुए चुनावों में विदेशी दखल का विस्तृत आकलन दिया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ईरान ने मतदान पर विश्वास कम करने और ट्रंप के फिर से राष्ट्रपति बनने की संभावनाओं को नुकसान पहुंचाने की कोशिशें की। इन कोशिशों के बावजूद खुफिया अधिकारियों को मतदान प्रक्रिया के किसी तकनीकी पहलू से छेड़छाड़ कर 2020 के अमेरिकी चुनाव में किसी विदेशी दखल के कोई सबूत नहीं मिले। मंगलवार को आई इस रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन (China) ने चुनाव में दखल नहीं दिया।

    अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि उनका मानना है कि चीन अमेरिका के साथ स्थिर संबंध को अहमियत देता है और उसने चुनाव में हस्तक्षेप करके इसमें पकड़े जाने का किसी तरह का जोखिम नहीं उठाया।