Trump and Biden's Indian-American supporters split over debate

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन (Joe Biden) के भारतीय-अमेरिकी (Indian-American) समर्थक राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Elections) की पहली आधिकारिक बहस (प्रेसडेंशियल डिबेट) (Presidential Debate) के निष्कर्ष को लेकर विभाजित हैं।

ट्रम्प के भारतीय-अमेरिकी समर्थकों ने कहा कि रिपब्लिकन नेता ने पहली आधिकारिक बहस में इस पद पर फिर से काबिज होने की दिशा में मजबूती के साथ कदम बढ़ाया जबकि बाइडेन के समर्थकों का कहना है कि पूर्व उपराष्ट्रपति अगले चार वर्षों के लिए व्हाइट हाउस (White House) में जाने के लिए सफलतापूर्वक आगे बढ़े है। राष्ट्रपति ट्रंप और बाइडेन ने मंगलवार को ओहायो के क्लीवलैंड में पहली बहस शुरू की और इस दौरान इनके बीच स्वास्थ्य देखभाल, कोरोना वायरस और उच्चतम न्यायालय के भविष्य जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई।

‘ट्रंप विक्ट्री इंडियन अमेरिकन फाइनेंस कमेटी’ के सह-अध्यक्ष अल मासोन ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने पुन:निर्वाचन की ओर मजबूती के साथ कदम बढ़ाया है, बहस में बाइडेन को पीछे छोड़ दिया। खेल खत्म।”

कैलिफोर्निया के भारतीय अमेरिकी अटार्नी हरमीत के ढिल्लन ने बहस का संचालन कर रहे क्रिस वालेस की कथित तौर पर पक्ष लेने के लिए निंदा की। बाइडेन के समर्थकों का कहना है कि बहस के दौरान पूर्व उपराष्ट्रपति ने सफलतापूर्वक अपना पक्ष रखा और ट्रंप अगले चार साल के लिए पूरी तरह से इस पद के योग्य नहीं है।

राष्ट्रपति 2020 के लिए बाइडेन, राष्ट्रीय वित्त समिति के सदस्य अजय जैन भूटोरिया ने कहा, ‘‘बहस के दौरान हमने दो अलग-अलग पुरुषों को भिन्न स्वभाव और दर्शन के साथ देखा। हमने बहस के मंच पर बाइडेन को एक ऐसे व्यक्ति के रूप में देखा जैसे कि वह राष्ट्रपति हों।”

बहस के दौरान दोनों नेताओं ने गुस्से में एक दूसरे के तर्कों पर आपत्ति और बाइडेन ने तो आखिरकार ट्रंप को कह ही दिया, “क्या आप अपना मुंह बंद रखेंगे, दोस्त?” बाइडेन के लिए दक्षिण एशियाई मामलों की कैलिफोर्निया को-स्टेट निर्देशक हरिनी कृष्णन ने कहा कि ट्रंप अपने पुन:निर्वाचन के लिए अपना पक्ष मजबूती से रखने में विफल रहे हैं।