कोलिन्स को संदिग्ध पाउडर समेत धमकी भरा पत्र भेजने वाली महिला को 30 माह की कैद

बनगोर (अमेरिका). अमेरिकी सीनेटर सूसन कोलिन्स (Sen. Susan Collins) को संदिग्ध पाउडर समेत धमकी भरा पत्र भेजने के मामले में दोषी ठहराई गई एक महिला को बृहस्पतिवार को 30 माह के कारावास की सजा सुनाई गई। यह पत्र कॉलिन्स के मेन स्थित आवास पर भेजा गया था। अमेरिकी जिला न्यायाधीश लांस ई वॉकर (Judge Lance Walker) ने बर्लिंगटन के मेन की रहने वाली सुजैन मस्कारा (Suzanne Muscara) (38) को इस मामले में सजा सुनाई। मुस्कारा को धमकी भरा पत्र भेजने का दोषी ठहराया गया है।

अभियोजकों ने कहा कि पत्र के साथ सफेद रंग का पाउडर था और पत्र में एंथेक्स का जिक्र था। घटना अक्टूबर 2018 की है। इससे दो दिन पहले भी कोलिन्स को एक पत्र भेजा गया था जिसे सीनेटर ने पति ने खोला था और पत्र में रिसिन (हल्का विषैला पदार्थ) होने की बात लिखी हुई थी। घटना के बाद से ही डाक विभाग ने कोलिन्स के पत्रों की जांच शुरू कर दी थी और मस्कारा का पत्र कोलिन्स के घर पर पहुंच पाता उससे पहले ही पत्र को पकड़ लिया गया था।

अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई ने सफेद पाउडर की जांच की थी लेकिन न तो वह एंथेक्स था और न ही कोई और विषैला पदार्थ। अभियोजकों ने कहा कि मस्कारा की पहचान उसके उंगलियों के निशान (फिंगर प्रिंट) से हुई थी और वह सीनेट में कोलिन्स के वोट देने से नाराज थी। मस्कारा ने जांचकर्ताओं को बताया कि उसने यह नहीं सोचा था कि उसके पत्र को इतनी गंभीरता से लिया जाएगा। (एजेंसी)