केवल 2 रू. में मिलता है एक दिन का शराब पिने का लाइसेंस

  • 1 हजार में पीओ मरते दम तक शराब
  • थर्टी फस्ट को एक दिन के लाइसेंस के लिए उमडेगी भीड

यवतमाल. राज्य उत्पादन शुल्क ने सरकार का राजस्व बढाने के लिए मद्य शौकीन को 2 रु. में एक दिन का शराब पिने का लाइसेंस देने का निर्णय लॉकडाउन में किया. जिससे शराब प्रेमी ने लॉकडाउन के दौरान तथा आज भी लाइसेंस निकालने के लिए राज्य उत्पादन शुल्क के चक्कर काटना शुरू किया है तो मद्यशौकीन शराब की दुकान पर भी लाइसेंस के लिए आ रहे है. एक हजार रू. में मरते  दम तक लाइसेंस देने का फैसला इसके पहले राज्य उत्पादन शुल्क ने लिया था. तो 100 रू. में एक माह का लाइसेंस दिया जाता है. लेकिन अभी लॉकडाउन के दौरान एक्साइज विभाग ने केवल 2 रू. में एक दिन का लाइसेंस देने के  निर्णय को लेकर शराब प्रेमीयों में खुशी दिखाई देती है.

इस योजना का लाभ भी अबतक 500 रू. के आसपास शराब प्रेमीयों ने लिया है, ऐसी जानकारी एक्साइज विभाग के सुत्रों ने दी है. सुत्रों के मुताबिक थर्टी फस्ट के दिन 2 रू. का एक दिन का लाइसेंस बडा लोकप्रिय होने की संभावना है. अभी तक लाइसेंस के लिए लोगों ने संबधित विभाग को तथा देशी और विदेशी शराब की दुकानों में आवेदन दिए है. कुछ शराब प्रेमी ने थर्डी फस्ट के दिन का लाइसेंस बुक किया है.

खास बात यह है कि ग्रामीण क्षेत्र में एक हजार रू. का लाइसेंस लेकर कुछ शराब बिक्रेता अवैध शराब का बिजनेस करते है. यह लाइसेंस उनके लिए भी फायदेमंद साबीत हो रहा है. क्योंकि उन्हे शराब साथ में तथा घर में रखने की सहुलीयत लाइसेंस के द्वारा मिलती है. इस वजह से शराब बिक्रेता भी एक माह का लाइसेंस निकालने के लिए उत्पादन शुल्क विभाग के तथा शराब के दुकान के चक्कर काटते है. लॉकडाउन के दौरान 2 रू. वाला एक दिन का लाइसेंस बडा ही प्रचलीत हुआ था.