जंगली सुवर के हमले में खेतिहर मजदूर की मौके पर मौत

    • भंडारी वन परिक्षेत्र मे डर का माहौल

    पुसद. तेकुले जमा करने के काम में लगे खेतिहर मजदूर की जंगली सुवर के हमले में मौत हो गई.घटना सोमवार को पुसद तहसील के भंडारी शेत परिसरमे में हुई.घटना 19 जुलाई की दोपहर करीब एक बजे की है. घटना से इलाके में दहशत का माहौल है और घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस के साथ वन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों का काफिला गांव में पहुंच गया है. मृतक का नाम देवीसिंह ज्योतिराम राठोड (60) हैं.

    इस मामले में प्राप्त जानकारी के अनुसार, देवीसिंह राठोड अपने परिवार के साथ पुसद तहसील के भंडारी में रह रहा था.उनके बेटे की कुछ साल पहले मौत हो गई थी.उसकी इकलौती बेटी गांव में रहती है. देवीसिंह और उनकी पत्नी के साथ सुख शांती से रहते थे.देवीसिंह कर्ता हैं और पत्नी के नाम पर दो एकड़ खेत के मालिक हैं.

    देवीसिंह हमेशा की तरह भंडारी वन परिक्षेत्र के खेत परिसर में तेकूले इकट्ठा करने के काम में लगा हुआ था.सोमवार दोपहर झाड़ियों में छिपे एक सुवर ने अचानक उन पर हमला कर दिया.हमले में उनका शरीर कई जगह जख्मी हो गया.

    वन्यजीवों का तत्काल बंदोबस्त किया जाए

    वन्यजीवों के हमले में एक किसान की मौत से क्षेत्र में भय का माहौल है.बारिश का मौसम होने के कारण किसान खेतों में काम पर जाने से भी डर रहे हैं.भंडारी सर्कल में एक बड़ा वन क्षेत्र है, जो बड़ी संख्या में जंगली जानवरों का घर है.इसी तरह शेत परिसर में जंगली जानवरों के हमले की कई घटनाएं सामने आ रही हैं.इसलिए किसानों की मांग है कि वन विभाग उन जंगली जानवरों की देखभाल करे.