Beginning of Navtapa, pre-sowing preparations for farming

यवतमाल. लाकडाउन की वजह से किसान पहलेही टूट चुका है. उसे कर्ज वितरण में कोई दक्कित ना आए, अन्यथा कारवाई की जाएगी ऐसी चेतावनी विधायक नामदेव ससाने द्वारा दी गई. किसान कर्ज के उद्देश से आयोजित की गई बैंक अधिकारीयों की सभा में वे बोल रहे थे. इस समय एसडीओ स्वप्नील कापडणीस, तहसीलदार रुपेश खांडरे, तहसील निबंधक पुरुषोत्तम नाईक आदी उपस्थित थे. अबतक किसानों पर प्राकृतिक संकट आया है. इसमें से बाहर निकलने के लिए जुझ रहा था.

लेकिन जागतिक महामारी कोरोना विषाणू का संक्रमन रोकने के लिए देश में लाकडाऊन किया गया. गत दो माह से किसान घर में ही है. अपना नियमित कर्ज देकर नया कर्ज लेने के लिए किसान बैंक में आ रहे है. इस संबध में बैँकों द्वारा अबतक क्या उपाययोजना की गई, कितना कर्ज बांटा गया इसकी जानकारी तहसील कार्यालय के सभागृह में आयोजित सभा में लिया गया. इस सभा में बैंक व्यवस्थापक ने तहसील में किसानों के बांटे गए कर्ज आपुर्ति की रिपोर्ट प्रस्तुत की.

सरकार के महात्मा ज्योतिबा फुले कर्ज माफी योजना के तहत अबतक तहसील को निधी प्राप्त नही होने से कई किसानों को कर्जमुक्ती से वंचित रहना पडा. उन्हे नए से कर्जआपुर्ती नही हुई है.साथही छत्रपती शिवाजी महाराज कर्जमाफी योजना के तहत अबतक कुछ किसानों के खातों में कर्जमाफी की राशी जमा नही होने से वे भी वेटिंग पर है. किसानों को प्राथमिकता से कर्ज दे ऐसी सुचना इस समय दी गई.