Money
Representational Pic

  • ग्रापं चुनाव को लेकर मनसे ने की मांग

आर्णी. राज्य में कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए ग्रामपंचायत चुनाव की सरगर्मियां जोरों पर हैं. ग्रामीण इलाकों में लोगों की आर्थिक स्थिति बहुत खराब है. कोरोना संक्रमण फैलने से पहले ग्रामपंचायत चुनाव की तैयारी करने के लिए प्रथम चरण में कई ग्रामपंचायतों में इच्छुक उम्मीदवारों ने नामांकन शुल्क का भुगतान किया था. जरूरी दस्तावेज बनाने के लिए हजारों रुपए खर्च किए थे.

जिन प्रत्याशियों ने कोरोना महामारी फैलने से पूर्व नामनिर्देशन शुल्क भरा था, उन्हें अब होने वाले चुनाव में खर्चों के तहत एडजस्ट किया जाये. याह जमा राशि वापस करने की मांग का ज्ञापन मनसे जिलाध्यक्ष देवा शिवरामवार, मनविस के जिलाध्यक्ष अनिल हमदापुरे ने की. उपरोक्त मांग का ज्ञापन जिलाधिकारी के जरिए मुख्यमंत्री के नाम भेजा. हमदापुरे ने बताया कि समूचे महाराष्ट्र में जनता का विचार करते हुए मनसे ने इस संबंध में पहल की है.

सरकार को आम जनता की आर्थिक स्थिति पर विचार करना चाहिए. इस समय मनसे जिला अध्यक्ष देवा शिवरामवार ने भी पूर्व में जमा राशि सभी को वापस करने की मांग रखी. इस समय सचिन एलगंधेवार, विकास पवार, सादिक शेख, अमित बदनोरे, आकाश देशमुख, मुकुंद जोशी, प्रशांत गौरकार आदि समेत मनसे पदाधिकारी उपस्थित थे.