थानेदार के खिलाफ कार्रवाई करें, करनवाड़ी के नागरिकों ने तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

    मारेगांव. शराब बिक्री का झूठा मामला दर्ज कर गालीगलौच करने का आरोप करते हुए करनवाड़ी की एक दिव्यांग महिला का मारेगांव पुलिस थाने के थानेदार के खिलाफ पुलिस थाने के सामने गत 9 दिनों से अनशन कर रहीं है. अनशन के समर्थन में करनवाड़ी के नागरिकों ने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर थानेदार जगदीश मंडलवार के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

    ज्ञापन में कहा गया है कि वर्ष 2018 में हुए एक दर्दनाक हादसे में दोनों टांगे गंवाई. ऐसे बिकट हालात में जी रहीं सीमा को सिकलसेल जैसी गंभीर बीमारी है. विलचेअर पर से अपने दोनों बच्चों पोषण कर रहीं है. मारेगांव के थानेदार ने प्रतिशोध में ऐसी दिव्यांग महिला के खिलाफ झूठी कार्रवाई की. उसका अपमान किया और अगले दिन जमानत मिलने के बाद भी शाम 7 बजे तक थाने में रखा. सीमा अफरोज खान नाम की महिला मारेगांव थाने के सामने भूख हड़ताल पर है. 

    अनशन वापस लेने का बनाया जा रहा दबाव

    ज्ञापन में यह भी आरोप लगाया गया कि थानेदार मंडलवार कुछ ग्रामीणों को प्रतिनिधित्व करने मजबूर करने के लिए कूटनीति का इस्तेमाल कर रहा है. सीमा अफरोज खान पर अनशन वापस लेने का दबाव बना रहा था. इसलिए करनवाड़ी के नागरिकों ने मारेगांव थाने के थानेदार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सीमा को न्याय दिलाने की मांग तहसीलदार मारेगांव से की है. ज्ञापन में गणेश कुबडे, प्रमोद कोवले, संदीप उमरे मोहित मिलमिले, विट्ठल कलस्कर बलवंत कोव के हस्ताक्षर हैं.