Goat

  • गुटविकास अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

मारेगांव. तहसील के चिंचमंडल में बकरियों और मवेशियों पर कुछ दिनों से अज्ञात बीमारी का प्रकोप है. इसके कारण कुछ बकरियों और मवेशियों के मरने से गांव के बकरियों और मवेशियों की तत्काल जांच करने की मांग सरपंच प्रफुल विखनकर ने गुटविकास अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर की है. चिंचमंडल में कुछ दिनों से बकरियों और पालतू मवेशियों पर अज्ञात रोग ने आक्रमण किया है. इसके कारण कुछ बकरियां और जानवर मरने की आशंका जताई जा रही है. अब तक कितने जानवर और बकरियों की मौत हुई है, इसका आंकड़ा फिलहाल मिल नहीं पाया है, लेकिन फिलहाल सभी ओर वायरस का हमला होने से मवेशियों पर आक्रमण हो रहा है, ऐसी चर्चा है.

Goat

पशु पालकों में चिंता

चिंचमंडल में मवेशियों पर तोंड़ खुरी जैसे रोग की बड़े पैमाने पर संक्रामक बीमारी फैली है, इसी तरह गांव में मौजूद पेयजल टंकी पर सभी मवेशी पानी पीते हैं. जिससे सभी मवेशियों को इसका संक्रमण हो रहा है. ऐसी भी आशंका जताई गई है. परिवारों का उदरनिर्वाह पालतू मवेशी, बकरियां बकरे पालन कर होता हैं, परिवारों का उदरनिर्वाह इसी के भरोसे हैं, अपनी आंखों के सामने पालतू मवेशी, बकरियां मरने से पशुमालिकों पर आर्थिक नुकसान झेलने की नौबत आ चुकी है. जिससे पशुधन पालनेवाले परिवारों में चिंता छायी हुई है.

जानवरों के कारण अन्य जानवरों की सुरक्षा के लिए गांव में मवेशी जांच कैम्प लगाकर जांच करने की मांग उपसरपंच विखनकर ने की है. इस समय गजानन पालकर और मारोती गौरकार उपस्थित थे.