Black fungus poses major challenge in Maharashtra after Corona, demand for injections increased up to 100 times
File Photo

यवतमाल. जिले में कोरोनाबाधित मरीजों की ठीक होने की संख्या 6 हजार के ऊपर पहुंची है. विगत चौबीस घंटों में आइसोलेशन वार्ड, विविध कोविड केअर सेंटर व कोविड हेल्थ सेंटर में भर्ती 115 लोग ‘पाजिटिव से निगेटिव’ होने से उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज दिया गया है. जिससे अब जिले में 6140 लोगों ने कोरोना को मात दी है. शुरूवात से लेकर अबतक कुल 60 हजार 728 नागरिकों के सैंपल निगेटिव मिले है. विगत चौबीस घंटों में 7 कोरोनाबाधित मरीजों की मौत हो गई तो नये 236 कोरोना पाजिटिव के मामले सामने आए है.

मृतकों में यवतमाल शहर के 68 वर्षीय व 72 वर्षीय पुरुष तथा 61 वर्षीय महिला, उमरखेड शहर के 50 वर्षीय पुरुष व 48 वर्षीय महिला, दिग्रस शहर के 50 वर्षीय महिला एवं दिग्रस तहसील के 77 वर्षीय पुरुष का समावेश है. नये पाजिटिव 236 मरीजों में 154 पुरुष व 82 महिला है. इनमें यवतमाल शहर के 48 पुरुष व 30 महिला, यवतमाल तहसील के एक पुरुष, दारव्हा शहर के दो पुरुष व चार महिला, दारव्हा तहसील के दो पुरुष, आर्णी शहर के आठ पुरुष व चार महिला, आर्णी तहसील के दो पुरुष, दिग्रस शहर के छह पुरुष व सात महिला, महागाव शहर के 12 पुरुष व तीन महिला, महागाव तहसील के एक पुरुष, नेर शहर के 11 पुरुष व तीन महिला, पांढरकवडा शहर के नौ पुरुष व दो महिला, पुसद शहर के नौ पुरुष व नौ महिला, पुसद तहसील के एक पुरुष, रालेगाव शहर के आठ पुरुष व पाच महिला, रालेगाव तहसील की एक महिला, उमरखेड शहर के 22 पुरुष व 12 महिला, वणी शहर के आठ पुरुष व दो महिला, कलंब शहर के दो पुरुष, कारंजा शहर के एक पुरुष तथा जिले के अन्य स्थान के  एक पुरुष का समावेश है.

वैद्यकिय महाविद्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्तमान में जिल्ह्यात 526 एक्टिव पाजिटिव भर्ती होकर होम आयसोलेशन में 726 लोग है. शुरूवात से लेकर अबतक जिले में कुल पाजिटिव मरीजों की संख्या 7622 पर पहुंच गई है. इनमें से 6140 स्वस्थ होने से उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज दिया गया. तो जिले में अबतक 230 बाधितों की मौत दर्ज है. वर्तमान में आइसोलेशन वार्ड में 274 भर्ती है. सरकारी वैद्यकिय महाविद्यालय ने शुरुवात से लेकर अबतक  69489 सैंपल भेजे होकर इनमें से 68350 प्राप्त तो 1139 अप्राप्त है. तथा 60728 नागरिकों में सैंपल अबतक निगेटिव निकलने की जानकारी वैद्यकिय महाविद्यालय के प्रशासन ने दी है.