Fraud
Representational Pic

अमरावती. जुना कॉटन मार्केट स्थित कृषि उपज मंडी समिति की भारतीय स्टेट बैंक की एसएमई शाखा को 2 कर्जदार ने 1 करोड़ रुपये से जालसाजी करने का मामला 17 दिसंबर को सामने आया है. कोतवाली पुलिस ने आरोपी अब्दुल नासिर शेख हुसैन (70) तथा तैय्यब बी अब्दुल नासिर (65, मदीना मस्जिद, अंजनगांव सूर्जी) के खिलाफ मामला दर्ज किया है. कर्जदार आरोपियों ने विदर्भ जिनिंग व प्रोसेसिंग फैक्टरी के नाम से कारखाना व्यवसाय शुरू करने के लिए कर्ज लिया. जिसके बाद कारखाने की मशीनरी व यंत्र सामग्री परस्पर बेचकर बैंक से जालसाजी की है

कोतवाली थाने में एफआइआर

स्टेट बैंक एसएमई शाखा के प्रबंधक निखिल श्रीवास्तव की रिपोर्ट पर कोतवाली पुलिस दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. आरोपीअब्दुल नासिर शेख हुसैन (70) ने विदर्भ जिनिंग व प्रोसेसिंग फैक्टरी के नाम से कारखाना व्यवसाय के लिए अंजनगांव सुर्जी में बोरला रोड स्थित एवजपुर में जगह तय की थी. उस जगह पर कारखाना शुरू करने के लिए अ.नासिर ने 2 फरवरी, 2020 को भारतीय स्टेट बैंक की एसएमई शाखा में कर्ज के लिए आवेदन प्रस्तुत किया गया. इस कर्ज के लिए अब्दुल नासिर ने बैंक के पास खेत की खरीदी से संबंधित कागजात गिरवी रखे थे. उसी दिन कर्ज के लिए अब्दुल नासिर को 1 करोड़ 10 लाख रुपए का कर्ज दिया. 

नहीं ली बैंक की अनुमति

लेकिन अब्दुल नासिर ने बैंक से कोई अनुमति ना लेकर परस्पर व्यवसाय की यंत्र सामाग्री को चांदुर बाजार तहसील के शिरजगांव में किसी दुसरे व्यक्ति को बेच डाली. बैंक कर्ज की किश्तें ना भरकर पैसे खुद के लिए इस्तेमाल किया. दोनों आरोपियों ने बैक को गुमराह कर जालसाजी करने पर धारा 406 के तहत मामला दर्ज किया है. कोतवाली थानेदार शिवाजी बचाटे के मार्गदर्शन में पुलिस उपनिरीक्षक राम गीते जांच कर रहे है.