Mayor election process announced, voting will start from 17

    धुलिया. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के बाद धुलिया महानगर निगम (Dhulia Municipal Corporation) के महापौर चयन प्रक्रिया (Mayor Selection Process) कार्यक्रम की घोषणा हो चुकी है। महापौर पद के लिए 17 सिंतबर को मतदान (Voting) शुरू होगा। आम सभा की बैठक ऑनलाइन (Online) होगी और महापौर पद के लिए चुनाव होगा। सुप्रीम कोर्ट ने ओबीसी समुदाय के लिए महापौर पद आरक्षित किया है।

    भाजपा के पूर्व महापौर जिनका अभी हाल ही में कार्यकाल समाप्त हुआ है वह सुनार जो की विशेष समुदाय से हैं, और माना जा रहा है की उनके पुत्र देवेंद्र सोनार भाजपा के प्रत्याशी होंगे। इसके अलावा भाजपा की ओर से अन्य उम्मीदवार भी मैदान में है। हाईकमान के आदेश पर पार्षदों की निगाह लगी है की आने वाले अगले ढ़ाई साल के लिए कौन महापौर निर्वाचित होगा।

    2019 में  5 वर्षीय चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का सफाया कर महानगर निगम की सत्ता हासिल की थी। प्रथम ढ़ाई साल का महापौर कार्यकाल  30 जून को समाप्त हो गया था। अब 17 सितंबर को दूसरा सत्र ढ़ाई साल के लिए महापौर पद का चयन किया जाएगा। इस कार्यक्रम की अधिसूचना महानगर निगम प्रशासन ने जारी कर दी है।

    धुलिया महानगरपालिका की आम बैठक 

    महाराष्ट्र नगर निगम अधिनियम की धारा 19(1) के प्रावधानों और नाशिक विभाग के कमिश्नर के पत्र के अनुसार शुक्रवार 17 को सुबह 11 बजे धुलिया महानगरपालिका की आम बैठक होगी। दिवंगत भारत रत्न डॉ. अटल बिहारी वाजपेयी हॉल में जिला कलेक्टर जलज शर्मा की अध्यक्षता में निगम  सदस्यों की विशेष बैठक ऑनलाइन होगी। मेयर पद के लिए नामांकन पत्र मेयर चुनाव कार्यक्रम के अनुसार 11 सितंबर से 13 सितंबर तक सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक और नामांकन पत्र दाखिल करने का समय 13 सितंबर को सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक होगा। नामांकन पत्र नगर सचिव स्वीकार करेंगे। 17 सितंबर को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। उसके बाद जरूरत पड़ने पर मेयर पद के लिए चुनाव कराए जाएंगे।