Bike stealing gang busted, 23 motorcycles seized

    औरंगाबाद. औरंगाबाद जिला ग्रामीण पुलिस अधीक्षक कार्यालय के अपराध शाखा टीम ने औरंगाबाद (Aurangabad),  बुलढाना, जालना (Jalna), नाशिक (Nashik) और जलगांव (Jalgaon) जिले से बाइक चुरानेवाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करने कामयाबी हासिल की है। पुलिस (Police) ने इस गिरोह के 6 सदस्यों को गिरफ्तार (Arrested) कर उन से  चोरी की हुई 23 बाइक जप्त (Seized) की। गिरोह के सदस्य ग्रामीण क्षेत्रों में बैंक तथा फाइनेंस कंपनियों द्वारा कर्ज की बकाया राशि के लिए जप्त किए वाहन होने का झूठा दावा कर वाहन बेचते थे। इस गिरोह से वाहन चोरी के कई और मामले उजागर होने की आशंका ग्रामीण पुलिस ने जताई है।

    औरंगाबाद ग्रामीण की एसपी मोक्षदा पाटिल ने बताया कि क्राइम ब्रांच को बीते दिनों सूचना मिली थी कि औरंगाबाद सहित आस-पास के जिले में बाइक चुरानेवाले गिरोह के प्रमुख आरोपी शेखर उर्फ अन्ना प्रकाश दांडगे निवासी रेणुकाई पिंपलगांव जिला जालना व विकास रामभाऊ कुरहाडे निवासी हिसोडा जिला जालना अपने गांव आए हैं। यह दोनों आरोपी अपने कुछ साथियों की मदद से बाइक चोरी कर ग्रामीण क्षेत्रों में बेच रहे है। इसी जानकारी पर ग्रामीण क्राइम ब्रांच के पीआई भागवत फुंदे और उनकी टीम ने उन दोनों आरोपियों के उनके गांव से गिरफ्तार कर पूछताछ करने पर उन्होंने अपने साथीदार श्रीराम उर्फ बंडु शैलेन्द्र सिंह जोनवाल निवासी जिला पारध जिला जालना के अलावा अन्य दो साथियों की मदद से औरंगाबाद, जलगांव, बुलढाना, नाशिक, जालना जिले से कई वाहन चुराने की  बात कबूली। 

    ग्रामीण क्षेत्रों में बेचे चोरी के वाहन 

    पुलिस ने उन सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर अधिक पूछताछ शुरु की। पुलिस को पूछताछ में पता चला कि इन सभी आरोपियों ने अपने और अन्य साथीदार तेजराव उर्फ बाबा रामदास जाधव निवासी पिंपलगांव रेणुकाई जिला जालना, ज्ञानेश्वर उर्फ नाना रामदास पवार निवासी मासरुल जिला बुलढाना, गजानन फकीरचंद गोठवाल निवासी जलगांव सपकाल जिला जालना की मदद से जालना और बुलढाना जिले के ग्रामीण क्षेत्र में कई वाहन बेचे। बेचते समय आरोपी ग्राहक को यह कहकर वाहन बेचते थे कि यह वाहन बैंक और फाइनेंस कंपनियों द्वारा कर्ज की बकाया राशि न देने के कारण जप्त किए गए है। वाहनों के दस्तावेज बाद में देने का झांसा देकर वाहन बेचकर आरोपी चलते बनते थे। पुलिस ने इन सभी आरोपियों से चोरी की 23 बाइक और 5 मोबाइल हैंडसेट सहित करीब 8 लाख 47 हजार 900 रुपए का माल जप्त किया। आगे की जांच ग्रामीण क्राइम ब्रांच पुलिस कर रही है।